Latest News

प्रभारी मंत्री ने 18170 लाख के परिव्यय का किया अनुमोदन

धरातल पर होने चाहिए विकास कार्य: नंदी
गांवों में मार्ग बनाने के दिए निर्देश

चित्रकूट, सुखेन्द्र अग्रहरी । नागरिक उड्डयन विभाग, राजनैतिक पेंशन, अल्पसंख्यक कल्याण, मुस्लिम वक्फ एवं हज विभाग मंत्री/जनपद प्रभारी मंत्री नंद गोपाल नंदी की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभागार में जिला योजना समिति की बैठक सम्पन्न हुई। जिसमें वर्ष 2020-21 की जिला योजना संरचना के तहत जनपद का कुल परिव्यय 18170 लाख रुपये है। जिसमें राज्यांश तथा केन्द्रांश सम्मिलित है। 
जिसके अंतर्गत कृषि विभाग को 41 लाख, पशु पालन विभाग को 111.80 लाख, दुग्ध विकास को 33.17 लाख, वन विभाग 1160 लाख, ग्राम्य विकास के विशेष कार्यक्रम 1250 लाख, राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना (मनरेगा) 5949.49  लाख, पंचायती राज 17.46 लाख, निजी लघु सिंचाई 278 लाख, अतिरिक्त ऊर्जा श्रोत 14.20 लाख, खादी एवं ग्रामोद्योग 0.50 लाख, रेशम विकास 9.70 लाख, सड़क एवं पुल 350 लाख, पर्यावरण 2 लाख, पर्यटन 100 लाख, माध्यमिक शिक्षा में व्यवसाय शिक्षा पाठ्यक्रमों में 20 लाख प्रादेशिक विकास दल 375
लाख, होम्योपैथिक 5 लाख, एलोपैथिक 15 लाख, ग्रामीण स्वच्छता कार्यक्रम 581.28 लाख, ग्रामीण आवास 5029.20 लाख, नगर विकास पेयजल योजना 1281.72 लाख, अनुसूचित जाति कल्याण 220 लाख, समाज कल्याण (सामान्य जाति) 40 लाख, अल्पसंख्यक कल्याण में 22.65 लाख, समाज कल्याण 426 लाख, दिव्यांग कल्याण में 4.50 लाख, महिला एवं बाल कल्याण में 450 लाख जो जिला योजना के लिए प्रस्तावित है। जिसमें मदवार चर्चा के उपरान्त प्रभारी मंत्री ने योजना को सर्वसम्मति से अनुमोदित किया।
मंत्री ने कहा कि तात्कालिक समस्या के निराकरण की व्यवस्था करायी जायेगी। जनपद बांदा के अधिकारी व विभागों के सहायक अभियंता, अवर अभियंताओं से कहा कि गांव में रास्ते न होने के कारण क्राइम पैदा होते हैं। इस समस्या को रोकने के लिए मुख्यमंत्री समय-समय पर दिशा निर्देश देते हैं। उन्होंने कहा कि जिन विभागों को वन विभाग से एनओसी नहीं प्राप्त हुई है वह जिलाधिकारी से निस्तारण करायें। कहा कि विकास कार्यों को धरातल पर करायें। काम करने के लिए रास्ते निकालें ओर जन प्रतिनिधियों द्वारा गांव तथा क्षेत्र की समस्याआंे को अवगत कराते हैं उनका तत्काल निस्तारण हो। सरकार सबका साथ सबका विकास व सबका विश्वास को लेकर कार्य कर रही है। शासन की मंशा के अनुरूप कार्यों को गुणवत्तायुक्त कराया जाये। अधिकारी व जन प्रतिनिधि आम जनमानस के कार्यों के लिए तैनात हैं। सभी कार्य धरातल पर होना चाहिए। उन्होंने कहा कि यह जनपद महत्वाकांक्षी योजना में है। यहां पर जो अधिकारी तैनात नहीं हैं उन्हें शासन स्तर से पत्राचार कर तैनात कराया जायेगा। 
सांसद बांदा/चित्रकूट आरके सिंह पटेल ने प्रभागीय वनाधिकारी से कहा कि सड़कों के किनारे वृक्षारोपण का भी प्रस्ताव रखें। जिसमें ट्री गार्ड सहित व्यवस्था की जाये। जहां पर वृक्षारापेण कराया जाना है और वित्तीय वर्ष में कराये गये हैं उसकी सूची जन प्रतिनिधियों को उपलब्ध करायें। बुन्देलखण्ड पेयजल योजना का जो डीपीआर बनाया गया है। उसे भी उपलब्ध करायंे। ताकि कोई मजरा व गांव रह न जाये। इस पर जिलाधिकारी ने मुख्य विकास अधिकारी से कहा कि जिला विकास अधिकारी की अध्यक्षता में एक कमेटी का गठन कर डीपीआर की जांच करायें। सांसद तथा विधायक मानिकपुर ने अधिकारियों से कहा कि क्षेत्र में जो कार्य कराये जाते हैं उसकी जानकारी उपलब्ध करायें और जो भी कार्य कराये जायें वह सरकार की मंशा के अनुरूप गुणवत्तायुक्त कराएं।
जिलाधिकारी शेषमणि पाण्डेय ने कहा कि दिए गए दिशा निर्देशों का समयबद्धता व गुणवत्ता, पारदर्शिता के साथ योजनाओं पर कार्य कराकर पूर्ण किया जायेगा। बैठक का संचालन मुख्य विकास अधिकारी डा महेन्द्र कुमार ने किया। इस अवसर पर मानिकपुर विधायक आनन्द शुक्ला, भाजपा जिलाध्यक्ष चन्द्र प्रकाश खरे, समिति में नामित क्षेत्र पंचायत/जिला पंचायत सदस्य, परियोजना निदेशक अनय कुमार मिश्रा, डीसी मनरेगा दयाराम, एनआरएलएम रामउदरेज यादव, प्रभागीय वनाधिकारी कैलाश प्रकाश, जिला अर्थ एवं संख्याधिकारी राजेश कुमार सहित जनपद स्तरीय  अधिकारी  मौजूद रहे।

No comments