Latest News

आपरेटर को 10 साल में मिला 6 माह का मानदेय

हमीरपुर, महेश अवस्थी । कुरारा विकासखण्ड के पारा कण्डौरा गांव की ग्रामीण पेयजल योजना में काम कर रहे आपरेटर को 10 साल में मानदेय के नाम पर सिर्फ छह माह का मेहनताना मिला है। कभी प्रधान तो कभी सचिव के वायदे के सहारे आपरेटर टंगा रहा है, मगर अब उसका सब्र का बांध टूट गया है और उसने 10 जनवरी को टंकी परिसर के अन्दर ही पूरे परिवार के साथ अनशन की चेतावनी दी है। पारा कण्डौरा निवासी जयनारायण ने
बताया कि उनके पिता सुघरा ने गांव में पेयजल योयजा के लिये अपनी जमीन दान में दी थी। उसके बदले में उसके पुत्र को नौकरी पर रखे जाने का वायदा किया गया था। नौकरी तो मिल गई, मगर वेतन नहीं मिला। 10 साल का लम्बा अर्सा गुजर गया। सिर्फ छह माह में मेहनताना के नाम पर 1500 रुपया प्रतिमाह दिया गया है। बिना किसी रूकावट के वह लगातार काम कर रहा है। नलकूप की कोठी में दरवाजा नहीं है। इसलिये उसे रातदिन सामान की रखवाली भी करनी पड़ रही है। धनाभाव के चलते परिवार का भरण पोषण मुश्किल हो गया है। जयनारायण ने बताया कि पिछले दिनों प्रत्येक कनेक्शन धारक से यहां 300 रुपये के लिहाज से वसूली की गई। मजबूर होकर उसने अनशन की चेतावनी दी है। 

No comments