Latest News

लापरवाह ए0एन0एम का रोक दें वेतन:डीएम

बिजनौरः (संजय सक्सेना)  जिलाधिकारी रमाकान्त पाण्डेय ने समस्त एमओआईसी को कडे निर्देश देते हुए कहा कि जिस किसी प्राथमिक/सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र पर अभी तक वजन मशीन नहीं है, वो दो दिन के अन्दर वजन मशीन स्वास्थ्य केन्द्र पर उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें। उन्होंने समस्त एमओआईसी को निर्देश देते हुए कहा कि जो ए0एन0एम0 एच0आई0वी0 जाॅच करने में लापरवाही बरत रहे हैं, उनके विरूद्ध विभागीय कार्यवाही अमल में लाएं और सम्बन्धित ए0एन0एम का वेतन रोक दिया जाए। मुख्य चिकित्साधिकारी को निर्देश देते हुए कहा कि महिला अस्पताल से कोई भी गर्भवती महिला प्रसव के समय वापस नहीं होनी चाहिए और बैठक में किसी भी एमओआईसी की रिपोर्ट में शून्य अंकित न हो, समस्त एमओआईसी अपने कार्य को गंभीरता से लें और स्वास्थ्य विभाग द्वारा चलाये जा रहे सभी कार्यक्रमों में अपनी पूर्ण भागीदारी रखे।
जिलाधिकारी श्री पाण्डेय मंगलवार शाम 4 बजे कलेक्ट्रेट के सभागार में आयोजित राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के तहत
जिला स्वास्थ्य समिति की बैठक की अध्यक्षता करते हुए उपस्थित अधिकारियों को निर्देश दे रहे थे। 
उन्होंने कहा कि शासन की स्पष्ट मंशा है कि स्वास्थ्य सेवाओं का लाभ निःशुल्क रूप में पूर्ण गुणवत्ता के साथ जनसामान्य को प्राप्त हो। सभी प्रभारी चिकित्साधिकारियों को कड़े निर्देश दिये कि जिले में जननी सुरक्षा योजना का संचालन पूर्ण गुणवत्ता और मानक के अनुरूप करें और प्राथमिक एंव सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों की विश्वसनीयता को बढ़ाना सुनिश्चित करें। समस्त एमओआईसी को निर्देश देते हुए कहा कि कुपोषण के शिकार बच्चों की जाॅच में तेजी लायी जाये, ताकि जनपद में कोई भी बच्चा कुपोषण का शिकार न रह सके। उन्होंने जिला कार्यक्रम अधिकारी को निर्देश देते हुए कहा कि जिन जगहों पर आंगनबाडी कार्यकत्री स्वास्थ्य विभाग का सहयोग नहीं दे रही है, उन्हे यह निर्देश दिये जाये कि वो स्वास्थ्य विभाग का सहयोग करें। 
जिलाधिकारी ने चेतावनी देते हुए कहा कि वर्तमान वित्तीय वर्ष में पूरे जोश और जिम्मेदारी से निर्धारित लक्ष्यों को अधिक से अधिक पूरा करने का प्रयास करें ताकि प्रदेश में जिले को शर्मनाक प्रगति वाले जिले से बाहर लाया जा सके। यह भी निर्देश दिये कि जो आशायें अपने कार्य में शिथिलाता बरत रही हैं और अपने कर्तव्यों के प्रति असंवेदनशील हैं, उनको तत्काल सेवा मुक्त किया जाए और उनके स्थान पर कर्मठ और निष्ठावान आशाओं को नियुक्त किया जाए। क्षय रोग के आंकडों पर नाराजगी व्यक्त करते हुए कहा कि जिन एमओआईसी द्वारा क्षय रोगीयों की जाॅच नहीं की जा रही है, वे यह सुनिश्चित करें कि जनपद की स्थिती बहुत खराब है और जो बजट सरकार द्वारा क्षय रोगियों के लिए दिया जा रहा है उसका व्यय पूरी गुणवत्ता के साथ करना सुनिश्चित करें। 
इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी कामता प्रसाद सिंह, मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 विजय कुमार यादव, जिला मलेरिया अधिकारी बृजभूषण, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी, जिला पंचायत राज अधिकारी के अलावा सभी उप मुख्य चिकित्साधिकारी तथा एमओआईसी मौजूद थे।

No comments