पहले दिन सिमौनीधाम में दो लाख श्रद्धालुओं ने छका प्रसाद - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Post Top Ad

Responsive Ads Here

Monday, December 16, 2019

पहले दिन सिमौनीधाम में दो लाख श्रद्धालुओं ने छका प्रसाद

साधु-संतों को प्रसाद ग्रहण कराकर तीन दिवसीय भंडारे का किया गया शुभारंभ 
श्रमदानी सेवक सरपट दौड लगाकर प्रसाद की करते रहे आपूर्ति

बांदा, कृपाशंकर दुबे । मौनी धाम में आयोजित विशाल भंडारें का शुभारंभ संतशिरोमणि स्वामी अवधूत महाराज ने हनुमान जी की पूजन अर्चन कर हवन की आहुतियां दी और प्रथम पंगत में साधु संतों को प्रसाद ग्रहण कराकर भंडारें का शुभारंभ किया। बजरंग बली एवं अवधूत महाराज के जयकारों से मौनी धाम गूंज उठा। आसपास गांवों समेत अन्य शहरों के श्रद्धालुओं का शैलाब उमड पडा। पहले दिन दो लाख से अधिक श्रद्धालुओं ने प्रसाद ग्रहण कर मेला प्रदर्शनी का आनन्द उठाया।
पहली पंगत में बैठ कर जयकारा लगाते साधु 
बबेरू क्षेत्र के ग्राम सिमौनी पर मौनी धाम में तीन दिवसीय विशाल भंडारें का 15 दिसम्बर को स्वामी अवधूत महाराज ने हनुमान जी की पूजन अर्चन कर हवन की आहुतियां दी और पहली पंगत में हजारों साधु संतों को प्रसाद ग्रहण कराकर शुभारंभ किया। साधु सन्यासी बजरंग बली व स्वामी अवधूत महाराज का जयघोष करते हुए प्रसाद ग्रहण किया। इसके बाद आसपास के गांव सिमौनी, टोलाकला, पडरी, सिंहपुर, धौंसंड, तिन्दवारी, संहिगा, जसईपुर, माटापुरवा, मूगुंस, भिडौरा, अनौसा, पडरी, रगौली, मुरवल, हरदौली, जुगरेहली, गौरीखांनपुर, अहार, अछाह, व्योजा, बघैला, मझिवां, बदौली, केवटरा, निभौर, काजीटोला, पतवन, बबेरू, अनवान, कुचेंदू, पून, अनवान, अरथरा सहित हमीरपुर, महोबा, चित्रकूट, फतेहपुर ,इलाहाबाद व मध्यप्रदेश के कई जिलों से श्रद्धालुंओं के आने का सिलसिला जारी रहा। प्रसाद के 9 काउण्टरों में एक पंगत में 10 हजार से अधिक महिलाएं व पुरूष श्रद्धालु भक्त प्रसाद ग्रहण करते रहे और 1 नंबर के काउण्टर में अधिकारी कर्मचारी सहित श्रमदानियों को प्रसाद ग्रहण कराया जाता रहा। प्रथम दिन मालपुआ, जलेबी, पूडी सब्जी का प्रसाद ग्रहण कराया गया। श्रद्धालु भक्त मौनी बाबा का जयकारा लगाते हुए समाधि में माथा टेकते और राष्ट्रीय मेला एवं प्रदर्शनी तथा नाटक का आनंद उठाते रहे। श्रमदानी सेवक अपने अपने काउण्टरों पर पंगत में बैठाकर श्रद्धालुओं को प्रसाद ग्रहण कराने में जुटे रहे। प्रसाद आपूर्ति की व्यवस्था में लगे श्रमदानी सेवक सरपट दौड लगा कर प्रसाद पहुंचाते रहे और आलू धुलाई एवं आलू कटाई, सब्जी व पूडी बनाने में श्रमदानी सेवक अपनी जिम्मेदारी के साथ जुटे रहे। दिल्ली, उज्जैन, आगरा, मथुरा व कानपुर के कारीगर प्रसाद बनाने में डटे रहे। दिल्ली से आए स्वामी जी के भक्त घूम घूम कर व्यवस्थाओं का जायजा लेते रहे। भण्डारे पर सुबह से महिलाओं की कतारे लगी रही। पहले दिन भण्डारे में सुबह से लेकर देर रात तक में दो लाख से अधिक श्रद्धालुओं ंने प्रसाद ग्रहण कर मेला प्रदर्शनी का आनन्द उठाया है।
 
साधु संतो के जमावडा से मधुवन हुआ रमणीय 

बबेरू। मौनी धाम में आयोजित विशाल भंडारें पर सुदूर क्षेत्रों के आश्रमों से आए साधु संतों ने मधुवन में डेरा जमा लिया है। जिससे मधुवन की रमणीयता देखी नही जाती है। धूनी रमाए साधु संत भजन कीर्तन में तो कोई पूजा अर्चना में लीन रहे। अलग अलग संप्रदायों के संतों का जमावडा लगा रहा। नागा साधुओं की अलग ही धूनी रमी
प्रदर्शनी में उमड़ी लोगों की भीड़ 
है। जो हर हर महादेव बम बम का जयकारा लगाते हुए गांजा की चिलमें चटका रहे है। उनका कहना है कि भोजन जरूरी नही है। हमारा मुख्य भोजन शंकर भगवान का प्रसाद गांजा, चरस व धतूरा है। इनके सेवन से ही हमारी काया तप रही है। गुढा हनुमान मंदिर के संत रामदास का कहना है कि मौनी बाबा धाम अन्य धामों से कम नही है। यहां तो महाकुंभ जैसे नजारा है। रमणीय तपोस्थली है। मौदहा के संत रामानंद ने बताया कि जैसा नाम सुना था उससे ज्यादा ही छटा देखने को मिल रही है। अलग अलग संप्रदायों के साधु सन्यासी कोई खुद टिक्कड बनाकर प्रसाद पा रहे है तो कोई भंडारे का प्रसाद ग्रहण कर सुबह से लेकर देर शाम तक भजन कीर्तन से मधुवन को गुलजार किए हुए है।
 
मेला की दुकानो में ग्राहको रही भीड

बबेरू। मौनी बाबा धाम के मेला पर लगी प्रदर्शनी में ग्रहको की भीड सुबह से लेकर देर शायं तक बनी रही। हथकरघा वस्त्र प्रदर्शनी में हस्त निर्मित कपडों की छूट पर बिक्री की जाती रही और हस्त निर्मित प्रदर्शनी में सस्ते दरों पर हैण्डीक्राप्ट, जूट की आकर्षक डिजाइने, कपडे व ज्वैलरी के ग्राहको ने जमकर खरीददारी की। प्रदर्शनी में लखनऊ, वराणसी, कानपुर, महोबा, झांसी, हमीरपुर, बांदा, हरदोई की दुकाने लगी हुई है। इनके अलावा क्षेत्र व शहरों की दुकानों में भी ग्रहको की भीड लगी रही। सरकारी प्रदर्शनी के स्टालों में पहुंचने वाले लोगो की कल्याण कारी योजनाओं सहित कृषि से संबन्धित जानकारी दी जाती रही। जलनिगम ने प्रदर्शनी लगाकर नाइट्रेट, फ्लोराइट आदि के जांच किए जाने की जानकारी देते रहे। जलसंस्थान, जिला कार्यक्रम अधिकारी बांदा, रेशम विभाग, जिला पेयजल एवं स्वच्छता मिशन, लघु ंिसंचाई, जिला ग्रामोद्योग, सहकारिता, वनविभाग, स्वास्थ्य विभाग, होम्योपैथिक चिकित्सक, दुग्धशाला विकास, कृषि रक्षा रसायन, मृदा परीक्षण, जनसेवा केन्द्र, कौशल विकास योजान, पशुपालन, वनविभाग, श्रमविभाग एवं कृषि विज्ञान प्रदर्शनी आदि के स्टालों में लोगो को जानकारी देकर लाभान्वित किया जाता रहा है।

विज्ञान प्रदर्शनी में दी गई जानकारी

बबेरू। विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी संचार प्रदर्शनी जिला विज्ञान क्लब बांदा द्वारा लगाई गई प्रदर्शनी में विज्ञान के संबन्ध में जानकारी दी गई। बताया गया कि जादू एक विज्ञान है फिल्म भी विज्ञान है।ं खाद्य पदार्थो की मिलावट से होने वाले नुकसानो की विस्तार से जानकारी दी। प्रदर्शनी में जानकारी लेने से बुन्देलखण्डी लोकगीतों का लोग आनन्द उठाते रहे। प्रदर्शनी के डायरेक्टर शनी कुमार ने बताया कि तीन दिवसीय प्रदर्शनी में लोगो को जागरूक बनाया जाएगा। प्रदर्शनी में लोगो का मनोरंजन कराते रहे। प्रहसन, भूतों का टोटका, चमत्कारों का प्रदर्शन एवं अंध विश्वास से संबन्धित जानकारी देते रहे। इस प्रदर्शनी के अलावा प्रशासनिक स्टाल एव कैम्पों में अधिकारी तैनात रहे और चिन्हित स्थानों पर जगह जगह पर पुलिस बल तैनात रहा। बबेरू, डीएवी इंटर कालेज बांदा, बजरंग इंटर कालेज बांदा स्काउट एवं एनसीसी के छात्र सुरक्षा व्यवस्था में मुस्तैद रहे। 

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages