Latest News

समाधान दिवस: राजस्व, पुलिस, विद्युत के सर्वाधिक मामले

अनुपस्थित अधिकारियों से मांगा स्पष्टीकरण, असहायों को डीएम-एसपी ने बांटे कंबल

चित्रकूट, सुखेन्द्र अग्रहरी । जिलाधिकारी शेषमणि पाण्डेय व पुलिस अधीक्षक अंकित मित्तल की अध्यक्षता में संपूर्ण समाधान दिवस का आयोजन तहसील मऊ में संपन्न हुआ। इस दौरान प्रभागीय वन अधिकारी, उपायुक्त उद्योग केंद्र, अधिशासी अभियंता लोक निर्माण विभाग, निर्माण खंड प्रथम, अपर मुख्य अधिकारी जिला पंचायत, सहायक निबंधक सहकारी समितियां तथा परियोजना अधिकारी डूडा के उपस्थित न होने पर स्पष्टीकरण मांगा है। उन्होंने कहा कि जो मामले राजस्व व पुलिस से संबंधित प्राप्त हुए हैं उनका तत्काल मौके पर जाकर निस्तारण करायें। जिलाधिकारी ने अधिशाषी अभियंता विद्युत को निर्देश दिए कि सौभाग्य योजना की समस्याएं गांव से
समस्यायें सुनते डीएम-एसपी।
काफी प्राप्त हुई है। कैंप लगाकर समस्याओं का निस्तारण करें। चकबंदी की समस्याएं अधिक प्राप्त होने पर एसओसी चकबंदी को निर्देश दिए की तत्काल मामलों को निस्तारित कराया जाये। जिलाधिकारी ने अन्ना गोवंश की समस्या पर ग्रामवासियों से कहा कि अगर दो-दो पशु बांधकर रखे तो जनपद से स्वतः अन्ना प्रथा खत्म हो जाएगी। गांव वाले अगर मदद नहीं करेंगे तो गांव की अन्ना की समस्या समाप्त नहीं होगी। बैठक कर प्रत्येक गांव के लोग दो-दो पशुओं को बांध कर रखें। जब तक जन सहयोग नहीं मिलेगा तो यह प्रथा समाप्त नहीं होगी। खंड विकास अधिकारी रामनगर को निर्देश दिए कि बिना शेड एक भी अन्ना पशु न रखे जाएं। अगर किसी गोवंश मृत्यु हुई तो संबंधित अधिकारियों तथा कर्मचारियों के खिलाफ कार्यवाही होगी।  उन्होंने नोडल अधिकारियों को निर्देश दिए जिन अधिकारियों की इस क्षेत्र में गौशाला संचालित है वह भ्रमण करते हुए व्यवस्थाओं को देखें। इसके उपरांत जिलाधिकारी तथा पुलिस अधीक्षक ने निराश्रितों के मध्य तहसील परिसर में कंबल वितरित किए। इस अवसर पर उप जिलाधिकारी मऊ राजबहादुर, अपर मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ एबी कटियार, जिला विकास अधिकारी आरके त्रिपाठी, परियोजना निदेशक अनय कुमार मिश्रा सहित संबंधित अधिकारी व ग्रामीण मौजूद रहे।

No comments