Latest News

खेत की रखवाली करने गये किसान की सर्दी से मौत

किसान की असमय मौत से परिजन सदमे में डूबे

उरई (जालौन), अजय मिश्रा । ठंड का कहर थमने का नाम नही ले रहा है अब ठंड आम जनमानस के लिए जानलेवा साबित होने लगी है। बीती रात खेत में  पानी लगा रहे किसान की ठंड से मौत हो गई सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव का पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया उप जिलाधिकारी ने कहा पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद जो भी संभव मदद होगी वो कराई जायेगी।
मृतक किसान की फाइल फोटो।
मंगलवार रात को कस्बा के मोहल्ला पुरवा कुरयाता निवासी हरछट अहिरवार 48 पुत्र स्व. देवीदयाल के नाम 7 बीघा खेत कदौरा मौजा में है मृतक दो दिन से मटर की फसल में पानी लगा रहा था और अन्ना जानवरों से रखवाली के लिए झोपड़ी भी बनाए था मंगलवार को रात 10 बजे पानी लगाते समय ठंड लग गई और वही गिर गया अन्य खेतों पर रखवाली कर रहे लोगो ने इसकी सूचना मृतक के परिजनों को दी तो परिजन आनन फानन में अस्पताल ले गए जहाँ डॉक्टरों ने जिला अस्पताल के लिए रिफर कर दिया हालत नाजुक होने पर जिला अस्पताल से झांसी के लिए रिफर किया जहा डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया मृतक के बड़े पुत्र धर्मेंद्र ने इसकी सूचना पुलिस व उप जिलाधिकारी को दी पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया मौत की खबर से परिजनों में हड़कम्प मच गया मृतक की पत्नी गिरजा देवी ने बताया कि 5 पुत्र व 3 पुत्रिया है कर्ज लेकर मटर की फसल बोई थी 15 दिन पूर्व अन्ना जानवरो ने 2 बीघा फसल बर्बाद कर दी थी  इस संबंध में उप जिलाधिकारी कौशल कुमार ने कहा पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद मौत का कारण स्पष्ट होगा अगर ठंड से मौत हुई है तो जो भी मदद होगी कराई जायेगी ।

साहूकारों के कर्ज से दबा था मृतक किसान

मृतक की पत्नी गिरजा देवी ने बताया कि इलाहाबाद बैंक कदौरा से किसान क्रेडिट कार्ड बनवाया था जिसका 30 हजार कर्ज ,सहकारी समिति का खाद बीज का 50 हजार रुपये कर्ज है जबकि साहूकारों से फसल बोने आदि के लिए गए दो लाख रुपये का कर्ज है साहूकार आए दिन रुपये के तगादे के लिए आते थे जिससे मृतक उनको फसल के बाद देने का आश्वासन दिया करता था।

अन्ना जानवर भी बने है किसानों के लिए मुसीबत 

किसान संजय गौतम ने कहा कि हम लोग भीषण ठंड में भी खेतों पर झोपड़ी बना कर रहते है और रखवाली करते है जरा सी चूक पूरे साल की मेहनत पर पानी फेर देती है सरकार ने गांव गांव गौशाला तो बनवाई है लेकिन सिर्फ देखने के लिए किसानो को कोई राहत नही मिली आने वाले समय मे किसान खेती करना बंद कर देंगे ।

No comments