विटामिन ए पिला डीएम ने किया शुभारंभ - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Advt.

Advt.

Post Top Ad

Responsive Ads Here

Wednesday, December 18, 2019

विटामिन ए पिला डीएम ने किया शुभारंभ

रतौंधी, कुपोषण से बचाने को 18 जनवरी तक चलेगा कार्यक्रम

चित्रकूट, सुखेन्द्र अग्रहरि। नौ माह से पांच वर्ष तक के बच्चों को रतौंधी, कुपोषण  से सुरक्षित रखने एवं शिशु मृत्यु दर मे कमी लाने के उद्देश्य से चलाए जा रहे बाल स्वास्थ्य एवं पोषण माह (बीएसपीएम) का जिला अधिकारी शेषमणि पांडेय ने रामलीला भवन में फीता काट व बच्चे को विटामिन ए पिलाकर शुभारंभ किया। उन्होंने कहा कि इसका उद्देश्य बच्चों को रतौंधी व कुपोषण से बचाव के लिए जन जागरुकता पैदा करना है। प्रयास है कि इसका लाभ सुदूर ग्रामीण क्षेत्रों खासकर मानिकपुर के बच्चों को मिले।

बच्चे को दवा पिलाते डीएम।
मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा विनोद कुमार यादव ने कहा कि कार्यक्रम में स्वास्थ्य विभाग के साथ आईसीडीएस विभाग भी सहयोग कर रहा है। यह 18 दिसंबर से 18 जनवरी तक चलेगा। पोषण माह के दौरान जिले भर में एक से पांच वर्ष के सभी बच्चों को विटामिन ए की खुराक से आच्छादित किया जाएगा। इसी तरह नियमित टीकाकरण के दौरान नौ से बारह माह तक के बच्चों को खसरे के टीके के साथ ही विटामिन ए की पहली खुराक पिलाई जाएगी। नवजात शिशुओं के वजन के आधार पर कुपोषित और अति कुपोषित बच्चों को चिह्नित कर उन्हें इलाज के लिए पोषण पुनर्वास केंद्र संदर्भित किया जायेगा। प्रसूता और घर वालों को शिशु को छह महीने तक सिर्फ स्तनपान और उसके बाद पूरक आहार देने के लिए प्रेरित किया जाएगा। समुदाय में आयोडीन युक्त नमक के प्रयोग का महत्व भी समझाया जाएगा। उन्होंने कहा कि  विटामिन ए की खुराक बच्चों के लिए बेहद महत्वपूर्ण है, क्योंकि नौ माह से पांच वर्ष तक के बच्चों को एक साल में दो बार निर्धारित मात्रा में विटामिन ए की खुराक देने से खसरे के कारण होने वाली मौतों में 50 प्रतिशत की कमी आती है। इसी तरह अतिसार रोग के कारण होने वाली मौतों में 33 प्रतिशत और अन्य सभी कारणों के चलते होने बीमारियों से वाली बच्चों की मौत में 23 प्रतिशत कमी आती है। इस दौरान जिले के लगभग 1.23 लाख बच्चों को विटामिन ए की खुराक से आच्छादित करने का लक्ष्य है। इसमें 9 से 12 माह के 7197, एक से दो वर्ष के 30945 तथा दो से पांच वर्ष तक के 85070 बच्चे शामिल हैं। लाभार्थी वंदना पांडेय ने कहा बेटी नित्या को विटामिन ए की खुराक पिलाई गई। उन्होंने कहा इससे आंख की रोशनी बढ़ती है और रतौंधी की समस्या नहीं आती। लाभार्थी आशा विश्वकर्मा ने कहा बेटे यश को विटामिन ए पिलवाया है। इससे कुपोषण के साथ आंख की बीमारी दूर होती है। इस मौके पर एसीएमओ डॉ एबी कटियार, डॉ इम्तियाज अहमद, डॉ धु्रव कुमार, डॉ आरके चैरिहा, जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डॉ मुकेश पहाड़ी, सीडीपीओ कर्वी बीएल गुप्ता, डीपीएम आरके करवरिया, डीसीपीएम विकाश कुशवाहा, अभिनंदन सिंह, नरोत्तम सिंह, ज्ञानचंद शुक्ल मौजूद रहे।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Responsive Ads Here

Pages