Latest News

उन्नाव-हैदराबाद के बाद रेप व दरिंदगी से दहला जनपद

रेप के बाद युवती पर केरोसिन डाल लगाई आग
बेटियों के साथ घटनाएं थमने का नही ले रही नाम

फतेहपुर, शमशाद खान । जनपद के हुसैनगंज थाना क्षेत्र के ग्राम ऊबीपुर में पडोसी चाचा द्वारा रेप के बाद 18 वर्षीय युवती को जिंदा जला दिया गया। युवती के साथ दुष्कर्म व दरिंदगी की घटना ने एक बार फिर से हैदराबाद व उन्नाव कांड की याद ताजा कर दी। जानकारी के अनुसार हुसैनगंज थाना क्षेत्र के रहने वाली 18 वर्षीय युवती सुबह लगभग 11 बजे के आस-पास घर पर अकेली थी परिजन मजदूरी करने बाहर गए थे। तभी पड़ोस में रहने वाले चाचा ने घर मे घुस कर युवती के साथ दुष्कर्म किया। युवती द्वारा परिजनों से शिकायत करने की धमकी देने पर आरोपी चाचा ने पास में रखी मिट्टी के तेल की कट्टी युवती के ऊपर उंडेलकर आग के हवाले के कर दिया। युवती की चीख पुकार से जब तक परिजन मौके पर पहुंचते तब तक युवती गंभीर रूप से झुलस चुकी थी। परिजनों की सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस एवं एम्बुलेंस के द्वारा युवती को सदर अस्पताल स्थित ट्रामा सेंटर लाया गया जहा चिकित्सको ने गम्भीर हालात को देखते हुए कानपुर रिफर कर दिया। रेप के बाद युवती की जिंदा जलाए जाने की घटना की जनकारी मिलते ही अफसरों में हड़कंप मच गया। डीएम संजीव सिंह, एसपी प्रशांत वर्मा के साथ एडीजी प्रयागराज सुजीत पाण्डेय, डीआईजी रेंज कवींद्र प्रताप सिंह ने मौके पर पहुंचकर जायजा लेते हुए शीघ्र ही टीम गठित कर आरोपी को गिरफ्तारी करने की बात कही। वही घटना के बाबत जिलाधिकारी संजीव सिंह ने बताया कि पीड़िता के भाई द्वारा दो तहरीर दी गई। प्रथम तहरीर में पड़ोस के चाचा द्वारा बहन के साथ दुष्कर्म करने के बाद वह लोग थाने में जाकर एफआईआर दर्ज कराते तब तक उसकी बहन ने दुख में घर
घटना स्थल का जायजा लेते डीआईजी कवीन्द्र प्रताप सिंह। 
के अंदर रखे मिट्टी के तेल को अपने ऊपर डाल कर घर में ही आग लगा लिया। जबकि दूसरी तहरीर में मेवालाल द्वारा उसकी बहन के साथ दुष्कर्म करने के बाद मिट्टी का तेल डालकर जला देने की घटना की बात है। भाई के अनुरोध पर दूसरी तहरीर पर एफआईआर संख्या-306/19 थाना हुसैनगंज में मुकदमा पंजीकृत कर लिया गया है। साथ ही बताया कि जांच में यह तथ्य प्रकाश में आया कि लड़की एवं आरोपी पड़ोसी चाचा के मध्य पिछले 2 वर्षों से प्रेम प्रसंग था, जिसको लेकर शनिवार सुबह गांव में परिवारीजनों के मध्य आपसी पंचायत की गई। पंचायत में दोनों के परिजनों के अलावा ग्रामवासी भी उपस्थित थे। पंचायत में उपस्थित लोगों ने बताया कि लड़का व लड़की साथ में रहना चाहते थे लेकिन लड़की के परिजन इस पर सहमत नहीं हुए। पंचायत में उपस्थित लोगों ने दोनों को तब तक  अलग-अलग रहने की हिदायत दी। जब तक कि लड़की के पारिवारिकजन लड़की की शादी नहीं कर देते। इसी मध्य पंचायत के दौरान लड़की 20-25 कदम दूर स्थित बगल के अपने घर में चली गई। उन्होंने घर के अंदर से आग उठते देखा तथा वहां से जाने पर देखा कि लड़की घर के बाहर आग से जल रही है। इस पर लड़की के घर वालों ने आग बुझाई। युवती को तत्काल 108 एम्बुलेंस से अस्पताल से लाया गया हालत गंभीर होने पर उसे कानपुर रेफर कर दिया गया, जहां उसका इलाज किया जा रहा है। हैदराबाद, उन्नाव काण्ड के बाद फतेहपुर में घटे जघन्य वारदात की घटना ने प्रदेश की योगी सरकार के कानून व्यवस्था पर प्रश्न चिन्ह लगा दिया है। अफसर भले ही घटना की लीपापोती कर दूसरा रंग देने में लगे हो लेकिन एक के बाद एक बेटियों के साथ हो रही घटनाएं थमने का नाम नही ले रही है हैदराबाद पुलिस द्वारा दुष्कर्म आरोपियों के अंजाम के बाद भी रेप जैसे घिनौने कार्य करने वालो के हौसले कम न होना प्रदेश की गिरती कानून व्यवस्था पर सवालिया निशान लगा रहा है।

No comments