Latest News

ज्यादा से ज्यादा लोगों के गोल्डन कार्ड बनाएं: अपर निदेशक

मोबाइल टीमों की मदद से गोल्डन कार्ड बनाने के काम में आएगी तेजी   
सुविधाओं से लैस होंगे विशेष आयुष्मान वार्ड
बनेंगे आयुष्मान सेल्फी प्वाइंट भी 
अपर निदेशक ने बैठक में दिए निर्देश  

बांदा, कृपाशंकर दुबे । पूरे मंडल में जिले में सबसे अधिक आयुष्मान लाभार्थी चिन्हित किये गए हैं। सभी पात्र लाभार्थियों  को योजना का लाभ मिल सके, इसके लिए गाँवों में कैंप लागाकर गोल्डन कार्ड बनाए जाएँ। अस्पतालों में पात्र लाभार्थियों को निरूशुल्क इलाज मिले व उनके साथ सम्मानजनक व्यवहार किया जाए। ये निर्देश आज शुक्रवार को अपर निदेशक डॉ. राकेश रमण ने आयुष्मान भारत योजना की समीक्षा बैठक में दिए।  
जनपद में पिछले कुछ महीनों से आयुष्मान भारत योजना के तहत पात्र लाभार्थियों के गोल्डन कार्ड बनाने के लिए मेहनत जोरों पर है। योजना का लाभ अधिक से अधिक लोगों को मिल सके, इसके लिए कार्ड बनाने के काम में
बैठक के दौरान बोलते अपर निदेशक
और तेजी लाने की आवश्यकता है। इसी को लेकर आज चित्रकूट धाम मंडल के अपर निदेशक डॉ. राकेश रमण ने एक समीक्षा बैठक की। बैठक में चर्चा के दौरान अपर निदेशक ने कहा कि माइक्रोप्लान न बनाकर बड़े गाँवों में कैंप लगाए जाएं जिससे ज्यादा से ज्यादा लोगों के गोल्डन कार्ड बन सकें। कार्ड बनाने के काम में तेजी लाने के लिए मोबाइल टीमों की मदद ले। वहीं उन्होने निर्देश दिये कि अच्छे प्रदर्शन के लिए अस्पताल स्तर पर भी सुधार किये जाएँ। जिला महिला व जिला पुरुष अस्पताल में बने विशेष आयुष्मान वार्ड की तर्ज पर सभी सम्बद्ध अस्पतालों में लाभार्थियों की सहूलियत के लिए सुविधाओं से लैस विशेष वार्ड बनाए जाएं। अस्पताल में जगह-जगह आरोग्य मित्र का नंबर लिखा जाए जिससे लोग उनसे संपर्क कर मदद ले सकें। इसके अलावा आयुष्मान सेल्फी प्वाइंट भी बनाए जाएँ जिससे प्रचार-प्रसार में मदद मिले। बैठक में संयुक्त निदेशक डा. बीआर गौतम, योजना के नोडल अधिकारी डा. बीपी वर्मा, जिला समन्वयक डा. धीरेन्द्र वर्मा, डिस्ट्रिक्ट इनफार्मेशन सिस्टम मैनेजर धर्मेन्द्र सिंह, एआरओ आज्ञा राम, जिला महिला व पुरुष अस्पताल के मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डा. उषा सिंह व डा. सम्पूर्णानन्द मिश्रा आदि शामिल रहे। 

No comments