Latest News

प्याज, लहसुन के बढ़े दाम भोजन को बना रहा बेस्वाद

चित्रकूट, सुखेन्द्र अग्रहरि। बीते छह माह से प्याज व लहसुन ने लोगों के स्वाद का तड़का फीका कर दिया। जिससे आमजन में भारी रोष है। मंहगाई के चलते थाली से प्याज और लहसुन गायब हेै। 
गौरतलब हो कि इन दिनो प्याज व लहसुन के दाम आसमान छू रहे हैं। बीते माहो से लोग प्याज व लहसुन के भाव पूछकर आगे बढ़ जाते हैं। भोजन को स्वादयुक्त बनाने में अहम भूमिका रखने वाले प्याज व लहसुन को

खरीदने में गरीब व मध्यम तबका अक्षम है। ऐसे में मध्यम वर्ग तो किसी तरह गुजारा कर लेता, किन्तु प्याज, लहसुन से नमक-रोटी खाकर जीविकोपार्जन करने वाला गरीब बेहद लाचार है। महिलाओं का कहना है कि दाल, सब्जी में तड़का लगाने के लिए लहसुन, प्याज अति आवश्यक है। बढ़े हुए दामों से अब सादा भोजन खाने को मजबूर हैं। बता दें अभी एक माह और ऐसी समस्या से झेलना पड़ सकता है, क्योंकि नई प्याज, लहसुन बाजार में आने में समय है। इन दिनो प्याज सौ रुपए व लहसुन तीन सौ रुपए किग्रा बिक रही है। बीते दिनो दो दिन ही प्रशासन ने 35 रुपए किग्रा तक प्याज मण्डियों में मुहैया कराया था जो नाकाफी है। थोक व फुटकर सब्जी बिक्रेता मंहगे दामों में प्याज खरीदने से कतरा रहे हैं। बताया कि इतनी मंहगी प्याज व लहसुन न बिकने से सड़ने के आसार रहते हैं। ऐसे में उनकी रकम भी बरबाद हो रही है।

No comments