Latest News

कानपुर में जल्द चलेंगी इलेक्ट्रिक बसें

एक बार चार्ज होने के बाद पूरा करेंगी लगभग 180 किलोमीटर का सफर
अहिंरवा में बनाया जायेगा बसों को चार्ज करने का प्वाइंट

कानपुर नगर, हरिओम गुप्ता - आने वाले समय में  कानपुर की सडकों पर इलेक्ट्रिक बसें दौडती हुई दिखायी पडेंगी, जिसकी तैयारियों को लेकर काम भी शुरू कर दिया गया है। इन इलेक्ट्रिक बसों के संचालन तथा उनकी देखरेख के लिए इलेक्ट्रो मोबिलिटी सोल्यूशन प्राइवेट लिमिटेड कम्पनी को अगले 10 साल के लिए कार्यभार सौंपा गया है। बताया जाता है कि बसों को चार्ज करने के लिए चार्जिंग प्वाइंट अहिंरवा में बनाया जायेगा, तथा इसके डीपो को बनाये जाने के लिए पांच एकड भूमि को भी चयनित कर लिया गया है। कानपुर में पहले सौ बसें चलाये जाने की योजना बनायी गयी है।
           
   कानपुर नगर में बहुत जल्द ही सडकों पर इलेक्ट्रिक बसे चलाई जायेगी, शहर में बढते प्रदूषण की स्थिति दिन ब दिन बदतर होती जा रही है। डीजल तथा पेट्रोल वाहनो से निकलने वाला धुंआ लागातार वातावरण को दूषित करता जा रहा हैै। इस ओर सरकार का भी ध्यान है और अब सरकार द्वारा इलेक्ट्रिक बसें चलाये जाने की तैयारियां शुरू कर दी गयी है। जल्द ही कानपुर की सडकों पर 100 बसे दौडती नजर आयेगी। इन बसों को चार्ज करने के लिए अहिरंवा में जगह चिन्हित कर ली गयी है जहां चार्ज प्वाइंट बनाया जायेगा। इस सम्बन्ध में बताया जाता है कि इस बनने वाले डीपों में एक साथ जहां 50 बसों को चार्ज किया जा सकता है वहीं इलेक्ट्रिक बसें एक बार चार्ज होने के बाद लगभग 180 किलोमीटर का सफर तय कर सकेगी। बसे मात्र आधा घंटे में चार्ज हो जायेगी। इतना नही नही इलेक्ट्रिक बसों के बाद 150 सीएनजी सिटी बसें भी जायेगी। बसों में नगर विकास विभाग द्वारा अपने ही कंडक्टर को तैनात किया जायेगा साथ ही एक एसपीवी के तहत कंपनी भी गठित होगी, जिसमें नगर निगम, परिवहन निगम के अलावा प्रशासन व कंपनी के प्रतिनिधि भी शामिल होंगे। इन बसों के चलने के बाद काफी हद तक वातावरण में मिलने वाला जहरीला धुंआ वाहनो से निकलना बंद हो जायेगा। बसों के संचालन व मेंटीनेंस के लिए इलेक्ट्रो मोबिलिटी सोल्यूशन कंपनी को आगले दस वर्षो के लिए ठेका दिया गया है वहीं केडीए द्वारा अहिरवां में जो डीपो बनाये जाने के लिए स्थान चिन्हित किया गया है उसके लिए केडीए ने नगर विकास विभाग से 46 करोड रूपाये की मांग की है। बताया जाता है कि आगमी वर्ष के प्रथम जनवरी माह में जमीन की रजिस्ट्री हो सकती है।

No comments