Latest News

कम राजस्व वसूली पर ईओ व मण्डी सचिव को कठोर चेतावनी

बिजनौर (संजय सक्सेना)  जिलाधिकारी रमाकांत पाण्डेय ने मानक से कम राजस्व वसूली कार्य करने पर असंतोष व्यक्त करते हुए अधिशासी अधिकारी  नगर पालिका तथा मण्डी सचिव को कठोर चेतावनी जारी करने तथा उनका स्पष्टीकरण तलब करने के निर्देश दिए। उन्होंने  कहा कि वसूली कार्य में किसी भी प्रकार की शिथिलता एंव लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। समीक्षा के दौरान आबकारी, बाट-माप सहित लक्ष्य के सापेक्ष कम वसूली करने पर संबंधित विभागीय अधिकारियों को कड़े निर्दश दिए कि लक्ष्य के सापेक्ष वसूली करना सुनिश्चित करें। सभी अधिकारियों को यह भी निर्देशित किया कि वे अपने कार्यालय में सर्वप्रथम आईजीआरएस पोर्टल का अवलोकन करें और यदि कोई शिकायत पोर्टल पर पाई जाती है, तो तत्काल गुणवत्तापूर्वक उसके निस्तारण की कार्यवाही अमल में लाएं ताकि शिकायत डिफाल्टर श्रेणी में न आने पाए। 
जिलाधिकारी श्री पाण्डेय शनिवार शाम कलक्ट्रेट सभागार में कर-करेत्तर तथा मासिक राजस्व समीक्षा बैठक की अध्यक्षता करते हुए उपस्थित अधिकारियों को निर्देश दे रहे थे। 

उन्होंने कर वसूली कार्य की समीक्षा करते हुए पाया कि वाणिज्यकर, स्टाम्प, विद्युत, खनन तथा परिवहन विभाग द्वारा वसूली का कार्य संतोषजनक किया गया है जबकि आबकारी, वन, सिंचाई, नगर निकाय, मण्डी आदि विभागों के वूसली कार्य में शिथिलता पाई जप्रकाश में आई। उन्होने नगर निकाय एवं मण्डी परिषद द्वारा वसूली कार्य की स्थिति गंभीर पाए जाने पर निर्देश दिए कि जिन नगर पालिकाओं एवं मण्डी परिषदों में लक्ष्य के सापेक्ष 40 प्रतिशत प्रगति की है, उसके अधिशासी अधिकारियेां एवं मण्डी सचिवों को कठोर चेतावनी जारी की जाए तथा जिनमें प्रतिशत से कम प्रगति कार्य किया गया है, उनका जवाब तलब किया जाए। उन्होंने निर्देश दिए कि सभी विभाग अपने विभागीय लक्ष्य को शत प्रतिशत पूरा करना सुनिश्चित करें। अधिशासी अभियंता विद्युत को निर्देश दिए कि दस-दस बड़े विद्युत बक़ायादारों की अवर अभियंतावार सूची तहसीलों को उपलब्ध करायें ताकि उनके अनुसार विद्युत देयकों की वसूली सुनिश्चित की जा सके।
इस अवसर पर अपर जिलाधिकारी प्रशासन विनोद कुमार गौड़, वित्त/राजस्व अवधेश कुमार मिश्र, न्यायिक डा0 नितिन मदान, डीएफओ सम्मिरन सहित सभी संबंधित अधिकारी, उप जिलाधिकारी, तहसीलदार एंव अधिशासी अधिकारी मौजूद थे।

No comments