Latest News

मजदूर वर्ग में एचआईवी का ज्यादा खतरा

हमीरपुर, महेश अवस्थी । प्रदेश में रोजी-रोटी के लिये गये मजदूर अंजाने में इस बीमारी की गिरफ्त में आ रहे हैं। जिला अस्पताल के आईसीटीसी सेण्टर के डाॅ प्रशान्त ने बताया कि 137 पुरूष और 62 महिलायें एचआईवी संक्रमित हैं। इनमें ज्यादा संख्या मजदूर हैं। ये मजदूर वापस आकर अपनी पत्नी को संक्रमित कर देते हैं।

वर्ष-2019 में 15 पुरूष और पांच महिलाओं में एचआईवी की पुष्टि हुई है। क्वार्डिनेटर वरूण पाण्डेय ने बताया कि एचआईवी संक्रमित व्यक्ति में टीबी रोग की ज्यादा सम्भावना होती है। वर्ष-2017-18 में 12 एचआईवी संक्रमित मरीज में टीबी की पुष्टि हुई, जिनमें से दो की मौत हो गई और 10 का इलाज चल रहा है। एचआईवी ग्रहित 10 महिलाओं के नवजात बच्चों को बचाया गया है। ये बच्चे अब 18 माह की उम्र पूरी कर चुके हैं। 

No comments