जान से मारने की धमकी दे रहा हत्यारोपी - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Advt.

Advt.

Post Top Ad

Responsive Ads Here

Thursday, December 26, 2019

जान से मारने की धमकी दे रहा हत्यारोपी

मोस्ट युवा जागृति संस्थान के अध्यक्ष ने डीआईजी को दिया ज्ञापन
बीते 17 नवम्बर को पहाड़ी थानान्तर्गत औदहा गांव में हुई थी घटना

बांदा, कृपाशंकर दुबे । बीते 17 नवम्बर को पहाड़ी थानान्तर्गत औदहा गांव मेें दबंग से प्रणाम न करने के कारण दबंग ने निचली जाति के एक व्यक्ति को फावड़ा से प्रहार कर गंभीर रूप से घायल कर दिया। जिसकी उपचार के दौरान मौत हो गई। पीड़ित परिवार का साथ देने के कारण दबंग द्वारा जान से मारने की धमकी दी जा रही है। गुरूवार को मोस्ट युवा जागृति संस्थान के अध्यक्ष ने डीआईजी को पत्र देकर सुरक्षा की गुहार लगाते हुये दोषियों पर कार्यवाही किये जाने की मांग की है।
डीआईजी को ज्ञापन देने आए संस्थान पदाधिकारी 
डीआईजी को दिये गये पत्र में मोस्ट युवा जागृति संस्थान के प्रदेश अध्यक्ष ह्दयेश कुमार वर्मा ने बताया कि बीते 17 नवम्बर को पहाडी थानान्तर्गत औदहा गांव निवासी रामकिशोर कोटार्य कुएं की जगत में बैठा हुआ था। तभी वहीं से जितेन्द्र उर्फ पप्पू तिवारी निकल रहा था। रामकिशोर ने राम राम किया तो पप्पू तिवारी ने कहा कि प्रणाम नही कर सकते और पास में रखे फावडे से प्रहार कर जान से मारने का प्रयास किया। गंभीर रूप से घायल रामकिशोर को इलाहाबाद में भर्ती कराया गया। जहां 25 दिसम्बर को उपचार के दौरान उसकी मौत हो गई। सामाजिक कार्यकर्ता व मोस्ट युवा जागृति संस्थान के संस्थापक अध्यक्ष कैलाश बौद्ध परिवार की शुरू से मदद कर रहे थे। इसलिये पप्पू तिवारी ने फोन से गाली गलौज करते हुये जान से मारने की धमकी दी। जिसकी रिकार्डिंग मौजूद है। उन्होने मांग की है कि पप्पू तिवारी के खिलाफ विवेचना के तहत धारा 302 लगाकर गिरफ्तार किया जाय। साथ ही कैलाश बौद्ध की सुरक्षा की जाये। जिससे किसी प्रकार की अप्रिय घटना घटित न हो। इस दौरान जागृति संस्थान के अमितेन्द्र कुमार, अखिलेश कुमार अनुरागी सहित अन्य लोग उपस्थित रहे।

राष्ट्रीय स्वराज पैंथर ने उठाई सजा दिलाने की मांग
बांदा। राष्ट्रीय स्वराज पैंथर के राष्ट्रीय अध्यक्ष मुन्नालाल दिनकर की अध्यक्षता में तिन्दवारी रोड स्थित कैम्प कार्यालय में पदाधिकारियों की बैठक आयोजित की गई। जिसमें चित्रकूट के पहाडी थानान्तर्गत ग्राम औदहा में जगतपाल कोटार्य की ब्राम्हण जाति के व्यक्ति से पायलागी न करने पर की गई हत्या पर कड़ा आक्रोश व्यक्त किया गया है और कडी से कडी सजा दिलाने की मांग की है। उन्होने कहा कि ब्राम्हण समाज के व्यक्ति द्वारा केवल प्रणाम न करने पर किये गये जानलेवा हमले व मौत हो जाने के बाद पुलिस द्वारा आरोपी को गिरफ्तार न करना पुलिसिया संरक्षण का स्पष्ट सबूत है। इस सरकार में एक जाति विशेष के लोगों को संरक्षण दिया जा रहा है और दलिों को निशाना बनाया जा रहा है। उन्होने कडी से कडी सजा दिलाते हुये 25 लाख का मुआवजा दिये जाने की मांग की है। युवा मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष कमलेश कुमार चैधरी ने कहा कि इस समय जातिवाद चरमसीमा पर है और कमजोर वर्ग को लगातार दबाने को कोशिश की जा रही है। इस दौरान सचिव राजनारायण अनुरागी, छेदीलाल, भारतबाबू यादव, प्रेमनारायण कोटार्य, हरीशंकर यादव, अरविन्द प्रजापति, शिवलाल कोटार्य, पंकज वर्मा, अशोक कुशवाहा, होरीलाल कोटार्य, पप्पू कुशवाहा, महेन्द्र बाबू, शिवमोहन कोटार्य, मातादीन वर्मा आदि लोग उपस्थित रहे।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Responsive Ads Here

Pages