Latest News

बारिश के साथ सर्द हवाओं के कहर से ठिठुरे लोग

घरो में दुबके लोग, ठिठुरते हुये स्कूल पहुचें बच्चे

फतेहपुर, शमशाद खान । पहाड़ी इलाको में लगतार हो रही बर्फबारी और दिनोदिन मौसम के बदलते तेवर के कारण ठण्ड का प्रकोप बढ़ना जारी है। दो दिनो से रूक-रूककर हो रही बारिश व बर्फीली हवाओ से गलन व ठिठुरन बढ़ने से आम जनमानस बेहाल हो रहा है। जिसके चलते ठण्ड से लोगो को घरो में दुबकने को मजबूर कर दिया है। 
बारिश व सर्द हवाओं के बीच स्कूल जाते बच्चे। 
गुरूवार के दोपहर बाद से अचानक बारिश के बाद जो पूरी रात रूक-रूककर होती रही। साथ ही सर्द हवाओ से लोग ठिठुरने को मजबूर हो गये हैं। शुक्रवार की सुबह जब लोगो की आंख खुली तो नजारा देखकर दंग रह गये। झमाझम बारिश और सर्द हवाओं देखकर लोग घरो से निकलने में कतराते रहे। वही स्कूली बच्चे बारिश व बर्फीली  हवाओं के बीच ठिठुरते हुये स्कूल पहुचे। रोजमर्रा के कामकाज से सुबह जल्दी दफ्तरों के लिये निकलने वाले एवं स्कूल जाने वाले छोटे बच्चों को सबसे भीषण समस्याओ का सामना करना पड़ा। वही शीतलहर का प्रकोप सड़कों पर जीवन यापन करने वालो को भी भुगतना पड़ रहा है। घरों के अन्दर ठण्ड से बचने के लिये लोग जहाँ गर्म कपड़ो, कम्बल, रजाई, रूम हीटर व कोयले की आग का सहारा ले रहे है तो घरों से बाहर निकलने वाले लोग का सहारा स्वेटर जैकेट, कैप बन रहा है। सबसे अधिक समस्या दूर दराज की यात्रा करने वाले या फुटपाथ पर खुले में रात्रि बिताने को मजबूर निराश्रितों के लिये है। जिनके पास ठण्ड से बचने के लिये पर्याप्त संसाधन नही है ऐसे लोगो का सड़क किनारे जल रहे अलाव सहारा बन रहे है। गरीबो के पास सर्दी से बचने के सीमित चीजे होने और पर्याप्त संख्या में अलाव के न होने से गरीब ठण्ड में ठिठुरने को मजबूर है। वही मौसम विभाग द्वारा लोगो को केवल जरूरत पर ही घरों से बाहर निकलने की सलाह दी गयी है। मौसम के बिगड़ते मिजाज को देखकर और सर्द हवाओं के जारी रहने से आगामी माह में गलन और ठिठुरन से राहत मिलती नजर नही आ रही।

No comments