Latest News

राजनीत की नीत, हद पार करती हुई

     देवेश प्रताप सिंह राठौर 
 ( प्रदेश महासचिव, आमजा भारत)

भारत में नागरिकता संशोधन बिल पर जिस तरह से कांग्रेश तथा राज्यों की क्षेत्रीय पार्टियां राष्ट्रीय एकता अखंडता के लिए कानून में बाधक बनती नजर आ रही हैं, जैसा कि आपने देखा लखनऊ में जिस तरह से राष्ट्रीय कांग्रेस की महासचिव प्रियंका वाड्रा द्वारा जिस तरह से पुलिस के विरोध में उपद्रवियों के साथ खड़ी होकर उनके पक्ष में जिस तरह से सामने आई है उससे स्पष्ट  होता है कि काग्रेस की मत भंग हो चुकी है ,और अपना मतों की प्रतिशत तो घटा ही रही है तथा साथ-साथ जनता के दिलों से दूर होती कांग्रेस पार्टी नजर आ रही है ।जिस तरह से देश के हित में बना कानून राष्ट्रीय एकता अखंडता को जोड़ने के लिए जो नागरिकता संशोधन बिल बनाया गया है उसको भी ना समझे तिल का ताड़ बना कर क्षेत्रीय दलों को जो अभी तक कोमा में थे ,उन्हें एक मुद्दा मिल गया और उनकी पार्टी में बैठे कुछ लोग उनके समर्थक लोग थोड़े से उपद्रव करने का एक अवसर झूठ का सहारा लेकर कर बवाल मचा रहे हैं। देश की सर्वोच्च न्यायालय पर भी भरोसा नहीं है। उत्तर प्रदेश की योगी सरकार दंगाइयों पर जिस तरह से कार्य कर रही है यह बहुत ही अच्छी सोच है क्योंकि आतंक कोई रूप नहीं होता है जिस तरह से आतंकियों ने सरकारी संपत्तियों को नष्ट किया है, उसका हर्जाना तो उसे हर हाल में भरना ही चाहिए यह योगी सरकार बहुत अच्छा कार्य कर रही है इसे पूरे प्रदेश की जनता योगी का समर्थन करती है, परंतु जिसे काग्रेस को

पसंद नहीं आ रहा आज जो लोग भगवा को गलत बयान बाजी कर रहे हैं, उन्हें नहीं मालूम कि भगवा होता क्या है भगवा की परिभाषा क्या है ,मैं किसी पक्षपात की बात नहीं करता परंतु भगवा एक बहुत ही बड़ा भगवे के अंदर का इतिहास है इसको बगैर जाने इसका अपमान करना उचित नहीं होता है। तथा इसको जानने से पहले उसके बारे में गलत भाषा बोलनाउचित नहीं होता महात्मा गांधी के नाम से गांधी चुराने वाले परिवार कहां से गांधी वन गए, गांधी परिवार का आरंभ कहा से हुए हुआ गांधी परिवार पूर्व में किस परिवार से जाना जाता था पूरा इतिहास उठाइए तब यह लोग दूसरे कीचड़ फेंकते हैं उन्हें पहले अपने को देखने की जरूरत है।  गांधी रखकर बदलकर महात्मा गांधी नहीं बन सकता व्यक्ति ,परंतु देश में शासन करने के लिए उन्होंने अपने सभी पीछे के इतिहास को छुपाकर एक टाइटल को छिपा दिया और भारत के ऊपर राज करने की सोच बनाई थी देश की जनता समझ  नहीं पाए। यह भारत आज क्यों नहीं विकसित हुआ  इसका मुख्य कारण आज स्पष्ट हो रहा है।  काग्रेस के वरिष्ठ नेता किस तरह के वक्तव्य देते हैं गैर जिम्मेदाराना लगता ही नहीं है कि वह इस देश के नेता या नागरिक है जब जेएनयू के छात्र आजादी और टुकड़े टुकड़े करने की बात करते है, जेएनयू के पक्ष में खड़े होते टुकड़े गैग के साथ कंधे से कंधा मिलाकर उनके साथ रहते हैं। वैसे एक बात कहना चाहते हैं जो 70 साल में नहीं हुआ वह साडे पांच साल में मोदी सरकार ने कर दिखाया है। उसका कारण और निकाल निराकरण ,एवं कारण भी समझ में देश हुआ गया है।देश के प्रधानमंत्री ने सांप का नागरिकता संशोधन बिल पर जो इस देश की मिट्टी में रहने वाले कोई भी मुसलमान है वह इस देश में ही रहेगा कहीं देश के बाहर नहीं जाएगा फिर क्यों बाल बचा रहे हो तो सो कर रहे हैं क्यों घुसे भूखी है क्यों टेंपो किए क्यों सरकारी तंत्र को नुकसान किया हाफ हिंदुस्तान के लिए है या पाकिस्तान बांग्लादेश हमानी स्थान के सहयोगी हैं जवाब भारत के रहने वाले हैं भारत में ही रहेंगे तो आपने यह उपद्रव क्यों किया गया इससे स्पष्ट होता है कि आपकी सोच में कुछ और है जिसे कांग्रेश एवम् चेत्रीय दल उसका फायदा उठाकर अपने उजड़े हुए राजनीतिक विरासत को  बचाने में लगे है। चीन में  हिंदू मुसलमान अन्य जाति के लोग जो है कि चीन के नागरिक है वहां पर चीनी भाषा को एवम् वहा के धर्म को ही माना जाने की प्रथम वरीयता दी जाती है जो चीन दूसरे को भाषा सिखाता है वह अपने देश में किस तरहउनका  अपमान करता है यह पाकिस्तान अफगानिस्तान मुस्लिम देश  नहीं देख रहे हैं। सिर्फ भारत दिखाई देता है भारत की एकता अखंडता को कैसे खंडित किया जाए उसके क्षेत्रीय दल उनकी भाषा बोल कर उनका मनोबल बढ़ाने का काम करते हैं।

No comments