पीने और सिंचाई के लिए केन से ही मिलता है पानी: डीएम - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Post Top Ad

Responsive Ads Here

Tuesday, December 3, 2019

पीने और सिंचाई के लिए केन से ही मिलता है पानी: डीएम

बांदा के लिए केन नदी को पानी की रीढ़ करार दिया 

बांदा, कृपाशंकर दुबे । केन नदी घाट पर प्रत्येक मंगलवार को होने वाली जल आरती से सम्बन्धित बैठक कलेक्ट्रेट सभागार में जिलाधिकारी हीरा लाल की अध्यक्षता में सम्पन्न हुई। जिसमें उन्होंने केन नदी के महत्व को बताते हुए कहा कि केन नदी से हमें पीने का पानी एवं खेती के सिंचाई के लिए पानी काम आता है। इसलिए केन नदी जनपद बांदा के लिए पानी की रीढ़ है। 


उन्होंने कहा कि केन नदी के महत्व के बारे में बच्चों को जानकारी कराई जाए। आयोजित होने वाले जल आरती कार्यक्रम में बच्चों को भी शामिल किया जाए। जिसके लिए जिला विद्यालय निरीक्षक को निर्देशित किया गया। जिलाधिकारी ने दीपक आरती पूजन आदि व्यवस्था के लिए ईओ नगर पालिका को निर्देशित किया। प्रतिदिन रोशनी व्यवस्था एवं फोकस लाइट व्यवस्था किए जाने हेतु अधिशासी अभियंता विद्युत को कनेक्शन किए जाने हेतु निर्देशित किया गया। उन्होंने कहा कि केन नदी पर परमानेन्ट जल आरती होगी। इसलिए इसके लिए माइक व्यवस्था एवं नाव व नाविक आदि की व्यवस्था विकास प्राधिकरण एवं नगर पालिका द्वारा कराई जाए। उन्होंने जिला विद्यालय निरीक्षक को निर्देश दिए कि प्रत्येक मंगलवार को होने वाली जल आरती में स्थानीय विद्यालय के बच्चों एवं अध्यापकों को निर्धारित तिथि के अनुसार लाने की व्यवस्था की जाए। इस मंगलवार को 5 बजे होने वाले 

कलेक्ट्रेट में बैठक के दौरान संबोधित करते जिलाधिकारी हीरालाल 
जल आरती कार्यक्रम में बजरंग इण्टर कालेज, डीएवी, रामादेवी, राजकीय इण्टर कालेज आदर्श शिक्षा निकेतन, डीआर पब्लिक इण्टर कालेज के बच्चे शामिल हांेगे। उन्होंने कहा कि केन नदी घाट को सजाने की जरूरत है। वन अधिकारी को वृक्ष लगाने के निर्देश दिए ताकि घाट हरा-भरा हो सके। उन्होंने ईओ नगर पालिका को निर्देश दिए कि वहां घाट के आसपास साफ-सफाई कराई जाए तथा उसके नजदीक कूड़ा-करकट डालने वालों पर प्रतिबन्ध लगाया जाए। उन्होंने शहर कोतवाल को सुरक्षा व्यवस्था के उपाय करने के निर्देश दिए। बैठक में अपर जिलाधिकारी सन्तोष बहादुर सिंह, अपर जिलाधिकारी न्यायिक संजीव कुमार, मुख्य विकास अधिकारी हरिचन्द्र वर्मा, परियोजना निदेशक आरपी मिश्र, नगर मजिस्ट्रेट प्रदीप कुमार, उपजिलाधिकारी सदर सुरजीत सिंह, प्रधानाचार्य बजरंग इण्टर कालेज मेजर मिथलेश पाण्डेय, तहसीलदार अवधेश निगम एवं पूर्व प्रशासनिक अधिकारी सईद अहमद आदि सम्बन्धित अधिकारी उपस्थित रहे।  

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages