Latest News

बच्चों को विद्यालय में दी जाए भयमुक्त वातावरण

समग्र शिक्षा अभियान के तहत हो रहे प्रशिक्षण के अन्तिम दिन दी गई जानकारी

बांदा, कृपाशंकर दुबे । शिक्षा मंदिर में सभी बच्चों को सीखने का समान अवसर मिले। इसमें लिंग, जाति, कमजोर आदि के आधार पर कोई भेद भाव न हो। हमारे शिक्षा के अधिकार कानून में भी यही अपेक्षा है कि बच्चों को विद्यालय में भयमुक्त व आनन्ददायी वातावरण का अवसर मिले। यह बाते समग्र शिक्षा अभियान के तहत मुनीम सिंह भारतीय एजुकेशन सेन्टर बबेरू में प्रशिक्षण के अंतिम दिन मास्टर टेªनर डा. शिवप्रकाश सिंह ने कही।
प्रशिक्षण के दौरान मौजूद प्रशिक्षणार्थी व अन्य 
प्रशिक्षण के अन्तिम दिन बीईओ कैलाश सिंह ने शिक्षा के क्षेत्र में हो रहे नवाचारों को करने व अपनाने पर बल दिया। पवन कुमार ने शिक्षक के चार गुणों पर जोर देते हुये कहा कि ज्ञान, पढाने की विधा, सम्प्रेषण और व्यक्तित्व झलकना चाहिये। कहा कि पठन पाठन की चर्चा व समीक्षा हमे अपने स्टाफ के साथ नियमित करने की आवश्यकता है। इससे हमे शिक्षण कार्य में अपेक्षित सुधार का अवसर मिलेगा। स्वास्थ्य और स्वच्छता पर चर्चा करते हुये प्रमोद कुमार वर्मा ने कहा कि विद्यालय में साफ सफाई करने की आदतों का विकास करना होगा। आकिब जावेद एसआरपी ने कहा कि इस प्रशिक्षण का उद्देश्य शिक्षकों में क्षमता संवर्धन करना है, शिक्षक, अपडेट होंगे तो हमारे विद्यालय के बच्चे भी अपडेट होंगे। शीतल प्रसाद यादव ने पास्का एक्ट के बारे में विस्तर से चर्चा की। प्रशिक्षण में मंजू कुमारी, फूलकुमारी, सुरेश कुमार, विजय कुमार, राकेश शिवहरे, जगदीश आदि उपस्थित रहे।

No comments