Latest News

बलात्कार आज की बड़ी समस्या....

(देवेश प्रताप सिंह राठौर)
(वरिष्ठ पत्रकार)

आज यौन हिंसा किसी एक देश की समस्या नहीं है । यह समस्या दिनों दिन बढ़ती जा रही है। आज पूरा विश्व इस यौन समस्या से जूझ रहा है। अमेरिका, स्वीडन, कनाडा, ब्रिटेन आदि कई देश रेप की घटनायें दिन प्रतिदिन बढ़ती ही जा रही है।

आज दुनिया इस समस्या की कुछ देशों ने कानून की शक्ति के कारण उसे कम किया है पर यौन उत्पीड़न रूक नहीं रहा है। इसका मुख्य कारण आज मोबाइल है तथा जो डाटा सस्ते में उपलब्ध किया जाना यह भी आज समस्या है। क्राइम को बढ़ावा देना फोन डाटा प्लान यह जनता के अच्छे कार्यों के लिए प्रदान किया जाता सस्ते दरों पर जब इसका दुरूपयोग होता है जैसे आज के नाबालिक बच्चों को सारे ऐप आते है सब मोबाइल डाटा के संबंध में जानते है वहीं अपराध का कारण बनती है। लोग जनता नेता विपक्ष सरकार को दोषी कहती है सरकारें कार्य करती पर इसके लिए हर नागरिक हर जन-जन को जागरूक होने की आवश्यकता है।
आज हमारे समाज का स्ट्रक्चर ऐसा हो गया है हम अपनी संस्कृति देश की भूलते जा रहे है सारे लक्षण विदेशीयों के आधार पर चला जा रहा है। आज आप प्रायः देखने में आता है। किसी शादी या पार्टी या बाजार, या घर से बाहर निकले पुरूष आपके कपड़े सर्दियों में गर्मी के कपड़े पहनने होंगे। शरीर पूर्ण ढका होगा वहीं पर महिला जो सर्दीयों में भी गर्मी वाले कम कपड़ों में दिखेगी यह क्या ठीक है उन्हें हजम एवं अपने बच्चों को भारतीय परिधानों को अपनाना चाहिये। क्योंकि आज यह भी कम कपड़ों की समस्या बनी है। यह सब फिल्मी स्थान की देखरेख सब अपनी वास्तविक जीवन में उतारते है।


आज पैसा अभिभावकों के पास बहुत होता वह अपने बच्चों को पढ़ाई हेतु बाहर भेजते तथा मुंह मांगा पैसा देते रहते बच्चों को यह अच्छी बात है परंतु देखना चाहिये हमारा बच्चा हाॅस्टल में कौन सी पढ़ाई कर रहा है।
आज का अभिभावकपैसा देकर अपनी जिम्मेदारी समाप्त एवं चैन महसूस करता है। वहीं बच्चे सब तो नहीं कहेंगे अधिकांश खराब दिशा में चले जाते है बच्चे। आज देश में एक बेहद बड़ी समस्या बन गयी है छोटी बच्चियों के साथ कुकर्म करते हैवानियतकी पराकाष्ठा पार कर रहे दानव यह मानव के नाम पर कलंक है इन लोगों को फांसी मिलना चाहिये पर अफसोस इस देश की कानूनी प्रक्रिया की जो दशकों लगा देता केस फाइनल नहीं होता है लोगों को विश्वास न्यायपालिका पर होता है पर आज की न्यायपालिका भी सपूतों पर चलती है। सबूत कमजोर गरीब के मिटा दिये जाते हैं। और ताकत पर सबूत जूटा लेते है बहुत से केस ऐसे होते है जिनमें निर्दोष आजीवन सजा काट रहे हैं। और दोषी व्यक्ति धूम रहे है। आज न्याययिक प्रक्रिया पूर्ण ठीक कहना सम्भव नहीं क्योंकि आज भी अन्यायी अन्याय करके बाहर घूमते है आप भारत का राज्य बिहार ले वहां पर अपराधियों की पूरी पूरी मजात इकटठा है पर क्या सब राजनीति कार्य हो गये है। इस तरह के संरक्षण देता एवं देश के बहुतसे राज्य है जहां अपराधियों पर लगाम कानून के दायरे में नहीं है। जबकि अपराधी है।


तेलांगना राज्य की राजधानी में जो एक डाक्टर के साथ गैंग रेप करने के बाद हत्याकर दी गयी थी और अपराधियों को डर नाम की कोई चीज नजर नहीं आई और मृत शरीर डाक्टर का ट्रक में लिए घूमते रहे। और एकान्त स्थान पर ले जाकर आग के हवाले मृत डाक्टर का शरीर कर दिया। इससे स्पष्ट हुआ तेलांगना सरकार का कोई भी वहां के नागरिकों का कोई भय नहीं दिख रहा है। भारत में कुछ वर्ष पहले जम्बू काश्मीर में रेप की घटना हुई थी कठुआ रेप कांड मसहूर था विश्व में भारत को काफी इस रेप कांड में शर्मिंदगी उठानी पड़ी थी। रेप केस भारत का चिंता का विषय के साथ विश्व में भी है जैसे दक्षिण अफ्रीका के कैम्प टाउन में वर्ष 2019 में ही रेप करने के कद सिर कुचल कर हत्या कर दी गयी थी उस व्यक्ति को उम्र कैद की सजा हुई थी ब्रिटेन विकसित देश विश्व में सबसे अधिक रेप की घटनायें हुई है। आज विषय यह नहीं कहां कितने रेप होते है परंतु देखना यह है भारत जैसे भारतीय संस्कृत में यह घटनायें नहीं होनी चाहिये। हमें उ.प्र. की सरकार मुख्यमंत्री योगी जी और प्रधानमंत्री मोदी जी अपनी कानूनी प्रक्रिया एवं शक्ति के साथ इस तरह की घटनायें रोकने का कार्य अवश्य करेगी।
अनुच्छेद 370 हटने के बाद आज का काश्मीर...
जम्मू काश्मीर में अनुच्छेद 370 हटाये जाने के बाद 5 अगस्त को हटी थी आज 5 दिसंबर चार महीने में काफी सुधार है परंतु 70 वर्षों की कुरीतियों से निजात पाने में समय लगेगा क्योंकि काश्मीर का हर नागरिक पूर्व बने नियमावली से चल रहा था अब स्थित पूरे भारत एक की है और जो वहां के अपनी बपौती समझते थे उन्हें कष्ट हो रहा है। बहुत से नागरिकों ने अपने अपने विचार जम्मू काश्मीर में धारा 370 हटाये पर रखे परन्तु जो बहुमत देखा जाए वहां के नागरिकों का तो 370 हटाने के पक्ष में दिखे क्योंकि वह जम्मू काश्मीर का विकास चाहते हैं वहां पर नौकरियों का जरिया बने और गरीबी से अपने को दूर कर सके। परंतु यह सब कार्य के लिए समय चाहिये 70 वर्षों में महबूबा सरकार, अब्दुल्ला सरकार काश्मीर में रही क्यों नहीं विकसित किया नौकरियां बेरोजगारी को आज चार महीने धारा 370 खत्म हुई तो सब एक दिन में चाहते हो सारा विकास हो जाए आपने धारा 370 को 70 वर्ष दिये अब हटने पर 10 वर्ष के करीब इंतजार विकास का करने की ईमानदारी दिखाओ तब आप कहीं विकसित हो सकेगे क्यों नहीं विकसित किया पूर्व सरकारों ने आपको सिर्फ विकसित किया रोजगार दिया वह पत्थर बाजों को तैयार किया हमारे भारतीय वीर सैनिकों पर चलाओं यही आपको रोजगार दिया गया तथा आतंकवादियों का साथ दो और भारत विरोधी गतिविधियों पर कार्य करे यह 370 ने दिया था।
आज हटने के चार माह में सब चाहते हो नौकरी भी मिल जाए बेरोजगारी दूर हो जाए यह सब पूर्व सरकारों से आपने मांगा नहीं क्योंकि उन्होंने इतना जातिगत बीज बो दिया था कि आप सब भूल गये थे अपने को विकसित करने हेतु परंतु समय की जरूरत है क्योंकि मोदी है तो मुमकिन है यह में नहीं कह रहा। भारत से लेकर अमेरिका तक यह कह रहा कि मोदी है तो सर्व मुमकिन है।
देश ने देखा विश्व की महाशक्ति देख रही है कश्मीर में धारा 370 हटने के बाद आज चार माह में कोई भी नागरिक हताश आतंकी द्वारा नहीं हुआ है। यह एक सरकार की बड़ी कामयाबी है। पाकिस्तान काश्मीर पर आंख लगाये उसके चार राज्य ऐसे है जो जल्द ही पाकिस्तान से अलग होने की स्थिति में है। पूरे भारत में आने को उत्सुक है।
जल्द ही भारत का अंग पीओके बनेगा क्योंकि कामश्ीर में अमन चैन तभी पूर्ण रूप से आ सकेगा जब पीओके भारत का अंग बने वह भी मोदी है तो मुमकिन की राह पर विश्वास किया जा सकता है। हैदराबाद के डाक्टर के हत्यारों को तेलंगना पुलिस द्वारा काउण्टर किया गया जो एक सन्देश ठीक है क्योंकि बहुत दरन्दगी की हदे पार कर दी थी।

No comments