जल निगम कर्मियों ने धरना देकर मुख्यमंत्री को भेजा ज्ञापन - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Post Top Ad

Responsive Ads Here

Tuesday, December 17, 2019

जल निगम कर्मियों ने धरना देकर मुख्यमंत्री को भेजा ज्ञापन

फतेहपुर, शमशाद खान । सात सूत्रीय मांगों को लेकर जल निगम कर्मियों ने उत्तर प्रदेश जल निगम संयुक्त समिति के बैनर तले अधिशाषी अभियन्ता कार्यालय प्रांगण में एक दिवसीय धरना दिया। तत्पश्चात कलेक्ट्रेट पहुंचकर जिलाधिकारी के माध्यम से मुख्यमंत्री को सात सूत्रीय ज्ञापन भेजकर सभी मांगों को शीघ्र पूरा किये जाने की आवाज बुलन्द की। 
उत्तर प्रदेश जल निगम संयुक्त समिति के अध्यक्ष अरूण कुमार श्रीवास्तव की अगुवई में अधिशाषी अभियन्ता कार्यालय में कर्मियों ने धरना दिया। धरने को सम्बोधित करते हुए कर्मचारियों ने कहा कि सात सूत्रीय मांगों को लेकर कर्मचारी लगातार आवाज उठा रहे हैं। लेकिन शासन द्वारा उनकी मांगे पूरी नहीं की जा रही हैं। प्रदेश नेतृत्व के आहवान पर बारह दिसम्बर को धरना देकर ज्ञापन भेजा गया था। आज पुनः धरना देकर ज्ञापन दिया
अधिशाषी अभियन्ता कार्यालय में धरने पर बैठे जल निगम कर्मी।  
जा रहा है। चैबीस दिसम्बर को प्रधान कार्यालय में धरना दिया जायेगा। यदि मांगे पूरी न की गयी तो आगे भी संघर्ष की लड़ाई जारी रहेगी। तत्पश्चात जुलूस की शक्ल में नारेबाजी करते हुए कर्मचारी कलेक्ट्रेट पहुंचे और जिलाधिकारी के माध्यम से मुख्यमंत्री को सात सूत्रीय ज्ञापन भेजकर सप्तम वेतनमान सम्बन्धी शासनादेश जल निगम पर यथावत लागू किये जाने, जल निगम को पूर्ववत शासकीय विभाग में परिवर्तित किये जाने, षष्टतम वेतनमान का बकाया एरियर का भुगतान किये जाने, सेवानिवृत्त एवं कार्यरत कर्मियों के रोके गये जीपीएफ का भुगतान अविलम्ब बहाल किये जाने, शासकीय विभागों की भंाति कैशलेस चिकित्सा की व्यवस्था तत्काल लागू किये जाने, पेंशनरों पर 164 प्रतिशत महंगाई राहत के आदेश को तुरन्त जारी किये जाने तथा तत्कालीन स्वायत्त शासन अभियत्रंण विभाग के समय से प्राप्त हो रहे 22 प्रतिशत सेन्टेज को 1 अप्रेल 1997 से घटाकर 12.5 प्रतिशत कर दिये जाने से आर्थिक स्थिति जर्जर हो गयी है। इसे पूर्ववत 22 प्रतिशत करते हुए प्रतिपूर्ति शासन द्वारा करायी जाये। ज्ञापन मे यह भी कहा गया कि यदि मांगे पूरी नहीं की जाती तो जल निगम कर्मचारी उग्र आन्दोलन के लिए विवश हो जायेंगे। जिसकी जिम्मेदारी शासन की होगी। इस मौके पर अरूण कुमार श्रीवास्तव, देवमणि, सै0 शारिक जमाल, अनुराग, विनोद कुमार, मो0 ताहा, शशि किरन तिवारी, गिरीश शंकर अवस्थी, रमेश तिवारी, कमला गौर, राजकुमार, राम प्रताप आदि मौजूद रहे। 

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages