Latest News

कल दीक्षांत समारोह में आएगें गृहमंत्री, सीएम

डीएम-एसपी ने उप्र-मप्र के अधिकारियों के साथ की बैठक
सुरक्षा समेत अन्य व्यवस्थाएं चैकस रखने के दिए निर्देश

चित्रकूट, सुखेन्द्र अग्रहरि। गृहमंत्री व मुख्यमंत्री के 30 दिसंबर को प्रस्तावित भ्रमण कार्यक्रम के दृष्टिगत शांति एवं कानून व्यवस्था के संबंध में सतना मध्य प्रदेश तथा चित्रकूट उत्तर प्रदेश के अधिकारियों के साथ संयुक्त समीक्षा बैठक जिलाधिकारी शेषमणि पाण्डेय तथा पुलिस अधीक्षक अंकित मित्तल की उपस्थिति में कलेक्ट्रेट सभागार में संपन्न हुई।
जिलाधिकारी ने मध्य प्रदेश के अधिकारियों से कहा कि मुख्यमंत्री का जो कार्यक्रम प्राप्त हुआ है उसमें गृहमंत्री भारत सरकार भी साथ में आएंगे। दिव्यांग विश्व विद्यालय कार्यक्रम के बाद चित्रकूट कामतानाथ प्रमुख द्वार जाएंगे। इसके अलावा अन्य कार्यक्रम भी हो सकता है। इसके मद्देनजर साफ सफाई व्यवस्था अच्छी तरीके से करा लिए जाएं तथा सड़कों पर जहां गड्ढे हैं, स्पीड ब्रेकर ऊंचे हैं उनकी भी व्यवस्था करा ले। अन्ना पशु कहीं पर भी सड़क में घूमते हुए नहीं मिलना चाहिए। सभी व्यवस्थाएं पूर्व में ही कर ले। दोनों प्रांतों के लिए सबसे महत्वपूर्ण सफाई है। कानून व्यवस्था को लेकर सबसे महत्वपूर्ण प्रमुख द्वार कामतानाथ है। वहां पर ज्यादा भीड़ न रहे, क्योंकि इस बार मुख्यमंत्री के साथ गृहमंत्री भी रहेंगे। पर्यटन अधिकारी को निर्देश दिए कि फ्लैक्सी लगाएं तथा टूरिस्ट बंगला पर सभी व्यवस्थाएं दुरुस्त करा लें। जल निगम व जल संस्थान के अधिकारियों को निर्देश दिए कि सड़क के किनारे कहीं पर पाइप लाइन लीकेज नहीं होना चाहिए। दोनों अधिकारी मिलकर निरीक्षण कर ले। अधिशाषी अधिकारी नगर पालिका परिषद कर्वी को निर्देश दिए कि पॉलिथीन के पोस्टर होर्डिंग नहीं लगेंगे। प्राइवेट होर्डिंग तत्काल हटवा दिए जाएं। अधिशाषी अभियंता विद्युत से कहा कि कहीं पर तार, खम्भा आदि की समस्या न रहे। इसको पहले से ही देख लें। सिंचाई विभाग मंदाकिनी नदी की सफाई लगातार जारी रखें। नागरिकता बिल को लेकर सतर्क रहना अति आवश्यक है। अधिकारियों की ड्यूटी जिन स्थलों पर लगाई गई है वह मुस्तैद रहकर कार्यक्रम को सकुशल संपन्न कराएंगे। सड़क से 200 मीटर के पहले कोई भी भीड़भाड़ नहीं होनी चाहिए। मुख्य चिकित्सा अधिकारी को निर्देश दिए कि एंबुलेंस की व्यवस्था सभी जगह तथा फ्लीट के साथ रहे। उसमें जीवन रक्षक दवाएं आदि की व्यवस्था की जाए। उन्होंने चैकी प्रभारी सीतापुर को निर्देश दिए कि परिक्रमा पथ सहित पूरे क्षेत्र का भ्रमण कर सभी व्यवस्थाएं दुरुस्त करा ले। उन्होंने मंच, पाण्डाल, कामतानाथ प्रमुख द्वार आदि विभिन्न स्थानों पर लगे अधिकारी ड्यूटी स्थल पर तैनात रहकर कार्यक्रम को सकुशल संपन्न कराएं।

पुलिस अधीक्षक अंकित मित्तल ने कहा कि इस बार मुख्यमंत्री के साथ गृहमंत्री आ रहे हैं। सुरक्षा व्यवस्था के मुताबिक कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए कानून व्यवस्था चुस्त-दुरुस्त रखने की आवश्यकता है। दोनों प्रांतों के अधिकारी ट्राफिक की व्यवस्था चुस्त-दुरुस्त रखें। जहां पर नो एंट्री लगाई जानी है उसका अभी से प्लान तैयार कर लें। इस पर उप जिलाधिकारी मझगवां मध्य प्रदेश ने बताया कि रजौला, पीलीकोठी व हनुमान धारा के पास नो एंट्री लगाई जाएगी तथा कामतानाथ प्रमुख द्वार पर कड़ी सुरक्षा व्यवस्था रहेगी। वहां पर ज्यादा भीड़ नहीं होने दी जाएगी। पुलिस अधीक्षक ने यह भी कहा कि दुकानों का अतिक्रमण न रहे। सड़क पर पार्किंग की व्यवस्था सही जगह पर कराएं। अपर जिलाधिकारी जीपी सिंह ने कहा कि मध्य प्रदेश के अधिकारियों के साथ संबंध स्थापित डिप्टी कलेक्टर करेंगे और उनसे एक दूसरे का आदान-प्रदान भी होगा। मुख्य विकास अधिकारी डा महेंद्र कुमार ने कहा कि रूट में साफ सफाई रहे। प्रत्येक किलोमीटर में जिला विकास अधिकारी एक जिला स्तरीय अधिकारी को नामित करें तथा सफाई कर्मियों को लगाकर सफाई कराएं। सड़क पर कोई भी अन्ना पशु नहीं घूमना चाहिए। उन्हें अगल-बगल की गौशाला में शिफ्ट कराया जाए और तैनाती स्थल पर सभी व्यवस्थाएं दुरुस्त रखें। बैठक में उप जिलाधिकारी कर्वी अश्विनी कुमार पाण्डेय, उप जिलाधिकारी मझगवां मध्य प्रदेश एचएस ध्रुवे, एसडीओपी मध्य प्रदेश व्हीपी सिंह, सीएमओ नगर पंचायत नयागांव रमाकांत शुक्ला, अपर पुलिस अधीक्षक बलवंत चैधरी, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा विनोद कुमार सहित संबंधित अधिकारी तथा विकलांग विश्व विद्यालय के कुलपति प्रो योगेशचंद्र दुबे आदि मौजूद रहे।


No comments