Latest News

मंदिर की जमीन पर कब्जा करना चाहते है अराजकतत्व

जमीन के मालिक ने जिलाधिकारी को दिया शिकायती पत्र

बांदा, कृपाशंकर दुबे । अपनी निजी भूमि में रामजानकी मंदिर का निर्माण कराकर पूजा पाठ के लिये पुजारी को अधिग्रहित किया गया था। अब कुछ अराजकतत्वों द्वारा मंदिर की भूमि पर कब्जे की नियत से फर्जी शिकायते कर न्यायालय में वाद दायर कर दिया गया है। जिसकी पुर्नविचार याचिका दायर की गई है। लेकिन दबंगों द्वारा लगातार फर्जी मुकदमे में फंसाने की धमकी दी जा रही है।
जिलाधिकारी को ज्ञापन देने आए ग्रामीण
डीएम को दिये गये पत्र में तहसील नरैनी क्षेत्र के गाजीपुर खलारी गांव के रहने वाले ग्रामीणों ने बताया कि 70 वर्ष पहले अपनी निजी भूमि पर रामजानकी मंदिर का निर्माण कराया था। मंदिर की देखरेख के लिये बाल्मीकि पुजारी को अधिकृत किया गया था। उनकी मृत्यु के बाद बाल्मीकि पुजारी का पुत्र ब्रजगोपाल मंदिर की देखरेख व पूजा आदि करता है। मंदिर के पास अतिरिक्त खाली भूमि पर किसानी कार्य किया जाता है। कृषि भूमि से हुई आय मंदिर की रंगाई पुताई का कार्य किया जाता है। लेकिन गांव के कुछ अराजकतत्वों द्वारा साजिश क तहत मंदिर की भूमि हडपने के उद्देश्य से न्यायालय में वाद योजित किया गया था। जिसमे कुछ अराजकतत्वों द्वारा मंदिर का सर्वसहकार व संरक्षक बनने के लिये एक कमेटी गठित कर ली है। जिससे एक पक्षीय आदेश के विरूद्ध पुर्नविचार याचिका दाखिल की गई है। बताया कि दबंगों द्वारा लगातार फर्जी मुकदमे में फंसाने की धमकी दी जा रही है। उन्होने मामले की जांच कराकर दोषियों के खिलाफ कार्यवाही किये जाने की मांग की है। इस दौरान संतकुमार, राजाभइया आदि लोग उपस्थित रहे।

No comments