Latest News

भाजपाईयों ने जन्मदिन पर अर्पित किए श्रद्धासुमन

चित्रकूट, सुखेन्द्र अग्रहरि। भारतरत्न पूर्व प्रधानमंत्री स्व अटलबिहारी बाजपेयी के जन्मदिन अवसर पर भाजपाईयों ने उनके चित्र पर श्रद्धासुमन अर्पित कर याद किया। कार्यक्रम की अध्यक्षता जिलाध्यक्ष चन्द्रप्रकाश खरे ने की।
कार्यक्रम में पूर्व सांसद भैरों प्रसाद मिश्र ने कहा कि स्व अटलबिहारी बाजपेयी का जन्मदिन 25 दिसम्बर 1924 को ग्वालियर मप्र में हुआ था। पिता का नाम कृष्णबिहारी बाजपेयी व माता श्रीमती कृष्णा देवी था। मध्यम वर्गीय परिवार है। कानपुर के कालेज से परास्नात्क किया। अटल जी पत्रकार व कवि के रूप में जाने जाते हैं। उन्होंने दो बेटियो नमिता और नंदिता को गोद लिया। वह हिन्दी अखबार के सम्पादक भी रहे। प्रदेश उपाध्यक्ष

रंजना उपाध्याय ने कहा कि अटल जी दृढइच्छा शक्ति की बदौलत दुनिया में मजबूत राजनेता के रूप में जाने जाते हैं। भाजपा को सर्वोच्च शिखर में पहुंचाने का श्रेय अटल जी का है। कहा कि उनका राजनैतिक सफर स्वतंत्रता संग्राम सेनानी के रूप में शुरू हुआ। भारत छोडो आंदोलन में भाग लेकर जेल भी गये। कार्यकर्ताओं को उनके जीवन से प्रेरणा लेकर काम करना चाहिये। वह सबके प्रेरणास्रोत हैं। 1968 में दीनदयाल उपाध्याय की मृत्यु के पश्चात अटल जी जनसंघ के अध्यक्ष बने। 1980 में भारतीय जनता पार्टी बनाई। पांच साल तक अध्यक्ष रहे। 1996 में देश के प्रधानमंत्री बने।
मानिकपुर विधायक आनन्द शुक्ला ने कहा कि व्यक्तित्व के धनी, अच्छे कवि व संघ के प्रचारक के रूप में जाने जाते हैं। 2001 में सर्व शिक्षा अभियान की शुरूआत की। 1998 में राजस्थान के पोखरन में परमाणु संयंत्र स्थापित कराया। कहा कि आज देश के पीएम मोदी उनके सपनों को लेकर काम कर रहे हैं। भारत के राजनैतिक इतिहास में उनका व्यक्तित्व शिखर पुरुष के रूप में दर्ज है। जिलाध्यक्ष चन्द्रप्रकाश खरे ने कहा कि जिले के प्रत्येक बूथ पर जन्मदिवस पर श्रद्धांजलि दी गई। इस दौरान भजन, कीर्तन, फल वितरण कार्यक्रम किये गये। संयुक्त राष्ट्र संघ में भारत का प्रतिनिधित्व करते हुये हिन्दी में भाषण देने वाले भारत के प्रथम राजनेता हैं। इस मौके पर दिनेश तिवारी, जयविजय सिंह, सुशील द्विवेदी, राजेश जायसवाल, मुन्ना करवरिया, रघुनाथ जायसवाल, रामबाबू गुप्ता, अंजू वर्मा, आशीष पाण्डेय, पंकज अग्रवाल आदि मौजूद रहे।

No comments