Latest News

नगर के मिट्टी माफिया प्रशासन को दे रहे चुनौती, जिम्मेदार मौन

अवैध मिट्टी खनन की शिकायत पर भी नहीं देते ध्यान

जालौन (उरई), अजय मिश्रा । नगर में चल रहे मिट्टी के अवैध खनन पर तमाम शिकायतों के बाद भी रोक नहीं लग पा रही है। मिट्टी माफिया रात के अंधेरे में धड़ल्ले से जेसीबी लगाकर मिट्टी का अवैध खनन करके खेतों को तालाब बनाने में जुटे हुए हैं। इसके बाद भी प्रशासन मिट्टी माफियाओं के सामने असहाय बना हुआ है।
नगर के औरैया मार्ग पर बिरिया खेड़ा मन्दिर के पास पिछले वर्ष से मिट्टी का अवैध व्यापार हो रहा है। मन्दिर के
सड़कों पर फर्राटा भरते मिट्टी से भरा ट्रेक्टर।
पास  पर अवैध रूप से पुल बनाकर मिट्टी की ढुलाई होती रही है।किसानों की 10 ट्राली की अनुमति के नाम पर मिट्टी माफिया अपना व्यापार चमका रहे हैं। इसके बाद भी प्रशासन मिट्टी माफियाओं के खिलाफ ठोस कार्यवाही नहीं कर पा रहा है। मिट्टी माफियाओं तथा प्रशासन की साठगांठ से मिट्टी का अवैध कारोबार खूब फल फूल रहा है। मिट्टी माफियाओं के लिए उप जिलाधिकारी का वह निर्णय वरदान साबित हो रहा है जिसमें वह किसानों को 10 ट्राली मिट्टी उठाने की अनुमति दे रहे हैं। दस ट्राली की आड़ में सैकड़ों नहीं हजारों ट्राली मिट्टी निकाली जा रही है। मिट्टी माफियाओं के खिलाफ कार्यवाही किये जाने तथा मिट्टी की अवैध निकासी पर रोक लगाने के लिए समाजसेवियों ने स्थानीय प्रशासन से भी गुहार लगाई किन्तु उसका कोई फायदा नहीं हुआ। औरइया मार्ग पर बिरिया खेड़ा हनुमान जी के मन्दिर के पास लगातार जे सी बी मशीन लगा कर मिट्टी की अवैध निकासी की जा रही है तथा आधा दर्जन ट्रैक्टर इसकी ढुलाई कर रहे हैं जिनसे प्लाटों की भराई की जा रही है। लगातार हो रही मिट्टी की अवैध निकासी के बारे में जब उपजिलाधिकारी सुनील कुमार शुक्ला से बात की तो उन्होंने कहा कि अगर शिकायत मिली कि कोई मिट्टी का कारोबारी अवैध रूप से खुदाई कर रहा है तो दोनों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

No comments