Latest News

झूठी अफवाहों के चलते कानून अपने हाथ में न लेंः एसपी

जालौन (उरई), अजय मिश्रा । एनआरसी कानून नागरिकता देने के लिए है। किसी की नागरिकता छीनने का अधिकार इस कानून में नहीं है। झूठी अफवाहों के चलतेे कानून अपने हाथ में न लें। नगर में शांति व्यवस्था बनाए रखें। यह बात पुलिस अधीक्षक ने कोतवाली में आयोजित शांति समिति की बैठक में उपस्थितजनों से कही। 

शांति समिति की बैठक को संबोधित करते एसपी।
कोतवाली परिसर में पुलिस अधीक्षक डाॅ. सतीश कुमार की अध्यक्षता एवं एसडीएम सुनील कुमार शुक्ला की उपस्थिति में शांति समिति की बैठक का आयोजन किया गया। जिसमें एसपी ने उपस्थितजनों को समझाते हुए कहा कि नागरिकता संशोधन अधिनियम सिर्फ नागरिकता देने के लिए है न कि किसी की नागरिकता छीनने के लिए है। भारत में रहने वाले अल्पसंख्यकों विशेषकर मुस्लिमों को सीएए से कोई परेशानी नहीं होगी न ही सीएए से भारत में रहने वाले भारतीय नागरिक प्रभावित होंगे। 31 दिसंबर 2014 से पूर्व पाकिस्तान, अफगानिस्तान व बांग्लादेश से धार्मिक उत्पीड़न के कारण वहां से आए हिंदू, ईसाई, सिख, पारसी, जैन और बौद्ध धर्म के शरणार्थियों को भारत की नागरिकता दी जाएगी। ऐसे में किसी भारतीय की नागरिकता छीनने का कोई आधार नहीं है। इसलिए फैलाई जा रही झूठी अफवाहों से सावधान रहें। स्वविवेक से निर्णय लें। यह कानून किसी के लिए अहितकर नहीं है। इसलिए शांति व्यवस्था बनाए रखें। किसी अफवाह में आकर कानून को हाथ में लेने की कोशिश न करें। इस दौरान उन्होंने सीएए के संबंध में फैली भ्रांतियों को दूर करने के लिए पर्चों का भी वितरण किया। इस मौके पर उपजिलाधिकारी सुनील कुमार शुक्ला, सीओ सुबोध गौतम, कोतवाल प्रभारी सुनील कुमार सिंह, इंस्पेक्टर क्राइम अनिल कुमार, चैकी प्रभारी संजीव दीक्षित, विजय वर्मा, अशफाक राईन, , रिजवान, छिद्दी राईन, अफरोज शाह, सुशील कुमार प्रजापति, अनुपम गुर्जर, प्रदीप सक्सेना, सादिक, अनुज शाक्य, देवराज गुर्जर, हाजी सिद्दीक, विजय कुमार, शिवराम, हाजी अतीक, राजकुमार मिझौना, इरशाद आदि मौजूद रहे।


No comments