Latest News

नागरिक संशोधन कानून की जानकारी दी जायेगी बूथ स्तर तक: शर्मा

एक महीने तक चलेगा जागरूकता अभियान

हमीरपुर, महेश अवस्थी । भाजपा के प्रदेश उपाध्यक्ष और विहिप के वरिष्ठ नेता प्रकाश शर्मा ने कहा कि नागरिक संशोधन कानून बना। महसूस यह किया गया कि बहुल लोग यह नहीं जानते कि यह कानून क्या है, इसके लिये जनता को जागरूक करने को भाजपा ने संगठन स्तर पर एक माह तक अभियान चलाकर नीचले स्तर पर जानकारी देने की तैयारी की है। भारत में रहने वाले मुस्लिम समुदायों से इस कानून का कोई रिश्ता नहीं है। 1950 में लियाकत हुसैन और नेहरू के बीच जो समझौता हुआ उसपर भारत तो कायम रहा, मगर बंगलादेश, पाकिस्तान और अफगानिस्तान ये कायम नहीं रहे। जिसके कारण वहां हिन्दुओं की आबादी बहुत तेजी से
समाप्त होती गई। इन देशों से हिन्दुओं का पलायन शुरू हुआ। गांधी जी ने भी इच्छा जाहिर की थी कि मुसलमानों का हिन्दुस्तान में हमेशा से अधिकार रहेगा। लोहिया ने भी इसका समर्थन किया। एनआरसी और सीएए में फर्क है। एनआरसी को केवल असम में लागू किया गया है। नागरिकता के प्रकार में संशोधन करके इस संशोधित कानून को लागू किया गया। जिसके तहत सहुलियत के साथ आने वालों को सुरक्षा दी जायेगी। स्थानीय लोग भ्रम की स्थिति में हैं। इस भ्रम को दूर करने के लिये जनजागरण के लिये जिला स्तर पर गोष्ठी के बाद मण्डल और बूथ स्तर पर इस जागरूकता अभियान को ले जायेंगे। यहां पत्रक भी बांटे जायेंगे। देश का मुसलमान का दुर्भाग्य है कि जब देश का बंटवारा हो रहा था, तब वे बंटवारा करने वालों के पीछे थे और आज वे कट्टरपंथियों, जेहादियों के साथ खड़े होकर सरकार का विरोध कर रहे हैं। इससे हिन्दू-मुस्लिम सम्बन्धों में दरार पड़ रही है और इस दरार का असर बहुत दूरगामी होगा। उन्होंने कहा कि कानून बनने के बाद 566 मुसलमानों को इस कानून के तहत देश की सदस्यता दी जा चुकी है। गेस्ट हाउस में आयोजित बैठक में दर्जा प्राप्त राज्यमंत्री बाबूराम निषाद, जिलाध्यक्ष ब्रज किशोर गुप्ता, क्षेत्रीय उपाध्यक्ष महिला मोर्चा की नीलम बाजपेयी, राधा चैरसिया, ज्योत्सना सिंह, भाजपा प्रकोष्ठ के जिला सह संयोजक डाॅ कुँवर सिंह पवार, पिछड़ा वर्ग आयोग की सदस्य शकुन्तला निषाद भी, पूर्व नगर अध्यक्ष लक्ष्मीरतन साहू आदि मौजूद रहे। 

No comments