Latest News

सर्राफा व्यापारी से लूट की घटना के विरोध में बाजार रहा बंद

सैकड़ों व्यापारियों ने थाने पहुंच मामले की दी लिखित तहरीर
सप्ताह भर में लूट का खुलासा करने का दिया आश्वासन

रामपुरा (जालौन), अजय मिश्रा । सर्राफा व्यापारी के साथ लूट और फायरिंग की घटना से आक्रोशित व्यापारियों ने रामपुरा पुलिस के विरोध में बाजार बंद रखने के बाद सैकड़ों की तादाद में थाना पहुंचकर विरोध जताया। घटना के बाद से बैकफुट पर आए इंस्पेक्टर ने 7 दिन के अंदर घटना का पर्दाफाश करने का आश्वासन देकर व्यापारियों का समझाने का प्रयास किया। उसके बाद ही व्यापारियों ने अपने प्रतिष्ठान खोले।
विदित हो कि शुक्रवार की शाम 6 बजे के लगभग बाइक सवार तीन लुटेरों ने पुलिस की सुरक्षा व्यवस्था को धता
बताते हुए बीच बाजार में दुस्साहसिक घटना को अंजाम देते हुए सर्राफा व्यापारी ओमप्रकाश सोनी उर्फ रज्जू की दुकान से जेवरातों से भरे दो बैगों को लूट लिया था। हो-हल्ला होने के बाद लुटेरों के हाथ से एक बैग गिर गया। हालांकि प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि दुकान के पास खड़े पप्पू ड्राइवर पुत्र स्व अशीन खान ने जान हथेली पर रखकर सोने के जेवरातों वाला बैग लुटेरों के हाथ से छीन लिया। जिसके बाद लुटेरों ने तमंचे से फायर किये। हालांकि 10 किलो से ज्यादा चांदी से भरे बैग को लुटेरे ले जाने में कामयाब हो गए। बीच बाजार में फिल्मी स्टाइल की घटना से पुलिस की कार्यशैली पर प्रश्नचिन्ह तो खड़ा होता है। शाम को पुलिस की गश्त, डॉयल 112 की गाड़ियां, कोबरा जैसी व्यवस्थाएं कहाँ थी? पुलिस अगर अपना काम ठीक से कर रही होती तो मुख्य बाजार से लूट की घटना न होती। इसी बात से गुस्साए व्यापारियों ने बाजार बंद रखा। इसके बाद इंस्पेक्टर आरके सिंह ने 7 दिन के अंदर लुटेरों को पकड़ने का आश्वासन दिया। उसके बाद व्यापारियों ने अपनी दुकानें खोली। विरोध के दौरान अमित पुरवार व्यापार मंडल अध्यक्ष,लल्लू सोनी उपाध्यक्ष, गुल्लू मामा कोषाध्यक्ष, सम्मन सोनी, मनीष सोनी, बॉबी सोनी, विकास गुप्ता, प्रशांत कठिल, आदर्श पुरवार आदि व्यापारी थे।

No comments