Latest News

आग से झुलसी छात्रा की मौत

मृतका के पिता ने डाक्टरों पर लापरवाही का लगाया आरोप 

बांदा, कृपाशंकर दुबे । शनिवार की रात को खाना बनाते समय आग से झुलसी छात्रा को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया था। रविवार की सुबह उपचार के दौरान उसकी मौत हो गई। मृतका के पिता ने चिकित्सकों पर लापरवाही करने का आरोप लगाया है। परिजन शव का बिना पोस्टमार्टम कराए घर ले गए और शव का अंतिम संस्कार कर दिया। 
जिला अस्पताल में मौजूद मृतका के परिजन
घटना तिंदवारी थाना क्षेत्र के छापर गांव की है। वहां रहने वाली अंशिका (9) पुत्री कमलेश शनिवार की रात को घर में गैस से खाना बना रही थी, तभी अचानक उसके कपड़ों में आग लग गई। परिजनों ने आग बुझाने के बाद उसे स्वास्थ्य केंद्र तिंदवारी में दाखिल कराया। वहां से प्राथमिक उपचार के बाद गंभीर हालत में छात्रा को जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया। जिला अस्पताल में रविवार की सुबह उपचार के दौरान उसकी मौत हो गई। मृतका के पिता कमलेश कुमार ने आरोप लगाया कि उसकी बेटी को बस चिकित्सकों ने बोतल ही चढ़ाई। उसकी बेटी ठंडी पड़ गई। बताने के बावजूद चिकित्सक मौके पर नहीं पहुंचे और उसकी बेटी ने दम तोड़ दिया। इसके बाद स्वास्थ्य कर्मचारी मौके पर आक्सीजन सिलेंडर लेकर पहुंचा, लेकिन तब तक उसकी बेटी दुनिया से जुदा हो चुकी थी। उसने कहा कि चिकित्सकों की लापरवाही के चलते उसकी बेटी की मौत हुई है। बताया कि अंशिका गांव के प्राथमिक विद्यालय में कक्षा दो की छात्रा थी। अचानक हुई इस घटना से परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है। 

No comments