Latest News

कृषि कार्य में ड्रिप व स्प्रिंकलर सिंचाई पद्धति अपनाने से उन्नत सम्भव: सीडीओ

जखेड़ी में आयोजित चैपाल में सीडीओ ने सुनी जन समस्याएं

हमीरपुर, महेश अवस्थी । विकासखंड गोहांड के पूर्व माध्यमिक विद्यालय जखेड़ी में मुख्य विकास अधिकारी आर0के0 सिंह ने चैपाल लगाकर सुनी ग्रामीणों की समस्याएं। विद्यालय के हरे भरे वातावरण की मुख्य विकास अधिकारी ने की प्रशंसा। प्लास्टिक की बोतलों को एकत्रित कर उसमें लगाए गए सजावटी फूलों ने मन को मोहित किया। मुख्य विकास अधिकारी ने ग्रामीणों को ड्रिप व स्प्रिंकलर सिंचाई पद्धति तथा बागवानी मिशन के बारे में दी जानकारी दी। मुख्य विकास अधिकारी आर0के 0सिह की अध्यक्षता में विकास खण्ड गोहांड के पूर्व माध्यमिक विद्यालय जखेड़ी में चैपाल का आयोजन कर  ग्राम वासियों की समस्याओं को सुना गया। इस दौरान उन्होंने शिकायतों ध्समस्याओं के निस्तारण के निर्देश संबंधित जिला स्तरीय अधिकारियों को दिए। उन्होंने आवास, विद्युत, सड़क, पेयजल, राशन , पेंशन सहित अन्य योजनाओं के बारे में ग्रामीणों से  विस्तारपूर्वक समस्याओं को सुनकर निस्तारण के निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिए। मुख्य विकास अधिकारी ने इस दौरान

गांव के प्रधानमंत्री आवास के निर्माण की प्रगति की समीक्षा की तथा कहा कि समय से आवास निर्माण का कार्य पूर्ण किया जाए। उन्होंने कहा कि वर्तमान केंद्र व प्रदेश सरकार  समाज के गरीब ,कमजोर, असहाय व निर्धन वर्ग के लोगों के उत्थान हेतु कार्य कर रही है, इसके लिए विभिन्न प्रकार की लाभार्थीपरक योजनाओं को संचालित किया जा रहा है । लोगों द्वारा इन योजनाओं के बारे में जानकारी कर उसके बारे में आवेदन किया जाए।   इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी ने कहा कि  गांव के रास्ते के निर्माण का कार्य शीघ्र प्रारंभ किया जाए । इस दौरान विद्यालय के हरे भरे वातावरण की मुख्य विकास अधिकारी ने प्रशंसा की । प्लास्टिक की बोतलों को एकत्र कर उसमें  लगाए गए सजावटी फूलों ने लोगों का ध्यान अपनी ओर आकर्षित किया। इस दौरान ग्रामीणों को मुख्य विकास अधिकारी ने जानकारी देते हुए बताया कि कृषि कार्य में ड्रिप व स्प्रिंकलर सिंचाई पद्धति के द्वारा सिंचाई कर कृषको द्वारा उत्पादन व आमदनी बढ़ाई जा सकती है।इसके लिए उद्यान विभाग में आवेदन करना होता है इसके अंतर्गत लघु व सीमांत कृषकों को 90ः तथा बड़े कृषको को 80ः अनुदान दिया जा रहा है। उन्होंने बताया कि कृषकों को बागवानी लगाने हेतु प्रति हेक्टेयर रु0 3000 प्रतिमाह की सहायता राशि भी उद्यान विभाग द्वारा दी जा रही है इसकी जानकारी के लिए उद्यान विभाग में सम्पर्क किया जा सकता है। इस अवसर पर पीडी डीआरडीए चित्रसेन सिंह ,जिला विकास अधिकारी विकास ,बीएसए, जिला पूर्ति अधिकारी सहित अन्य संबंधित विभागों के जिला स्तरीय अधिकारी मौजूद रहे।

No comments