Latest News

जिला अस्पताल में परिजनों का फूटा आक्रोश

नसबंदी के बाद महिलाओं के आपरेशन कक्ष के बाहर लेटने पर हुआ बवाल, सीएमएस ने वार्ड में शिफ्ट कराया

चित्रकूट, सुखेन्द्र अग्रहरि। नसबंदी बाद महिलाओं को आपरेशन थिएटर के बाहर जमीन पर लेटी देख परिजनों ने विरोध जताते हुए हंगामा काट दिया। सूचना पर पहुंचे सीएमएस ने आनन-फानन महिला वार्ड भेजा। जहां बेडों की कमी के चलते दो मरीज शिफ्ट किये गये है। 

ये मामला गुरुवार को जिला अस्पताल में देखने को मिला। जहां महिला एवं पुरुष नसबंदी कैम्प लगाया गया था। जिसमें 43 महिलाओं का रजिस्ट्रेशन हुआ। सुबह एक दर्जन महिलाओं को नसबंदी के बाद मौजूद स्टाफ ने आपरेशन कक्ष के बाहर छोड़ दिया। महिलाए वहीं जमीन पर लेट गई। यह देख परिजन हंगामा काटने लगे। आरोप लगाया कि नसबंदी के बाद महिलाओं को वार्डों में न भेजकर आपरेशन कक्ष के बाहर लिटा दिया। भीषण ठंडी में फर्श पर ही लेटी रहीं। किसी जिम्मेदार अधिकारी ने कोई ध्यान नहीं दिया। गुस्साए तीमारदारों के हंगामे की सूचना पर पहुंचे सीएमएस डा आरके गुप्ता ने महिलाओं को आनन-फानन वार्ड में शिफ्ट कराया है। बताते चले कि महिला वार्ड में बेडो की कमी के चलते दो मरीजों को रखा है। चिकित्सक पीडी चैधरी ने बताया कि डा रफीक अंसारी की देखरेख में महिला चिकित्सकों ने नसबंदी की है।  


No comments