Latest News

डकोर इंस्पेक्टर की मदद का कायल हुआ युवक कादिर

अस्पताल से थाने पहुंच इंस्पेक्टर को दिया धन्यवाद

कुसमिलिया (उरई), अजय मिश्रा । अभी तक लोगों के सामने पुलिस का अमानवीय चेहरा ही सामने आया है। पुलिस को लेकर लोगों के मन में तमाम प्रकार की भ्रांतियां रहती हैं। लोगों को लगता है कि पुलिस केवल परेशान करने के लिए होती है लेकिन ऐसा नहीं है। पुलिस का एक दूसरा रूप भी है। जिस रूप को देेखकर आप पुलिस की सराहना करने लगेंगे। बीती दिनों डकोर कोतवाली क्षेत्र के जैसारी मोड़ के पास उरई राठ मार्ग पर आज्ञात वाहन ने बाइक सवार को जोरदार टक्कर मार दी थी। इसके बाद बाइक सवार युवक गंभीर रूप से घायल हो गया था। जिसे डकोर इंस्पेक्टर ने समय पर जिला अस्पताल में भर्ती ही नही करवाया था। बल्कि उस के इलाज के लिए आर्थिक सहायता भी की थी। इसके युवक की जान बच सकी थी। मंगलवार को स्वास्थ्य होने पर युवक ने थाने पहुचकर इंस्पेक्टर को सम्मानित किया।
डकोर कोतवाल को साधुवाद देता युवक कादिर।
बीते दिनों देर रात ग्राम सेसा जिला झांसी निवासी कादिर अली पुत्र शेख मंसूरी अली अपनी बहन के यहां जैसारी कलां जा रहा था। तभी राठ की और से आ रहे आज्ञात वाहन ने टक्कर मार दी थी। इससे वह बाइक गंभीर रूप से घायल होकर सड़क पर अचेत हो गया था। जो खून से लथपथ था। भीषण सर्दी और कोहरा होने के कारण उसे कोई नही देख सका। रात 12 बजे डकोर इंस्पेक्टर बीएल यादव वहां से गुजरे तो उन्हें सड़क के पास एक बाइक गिरी हुई दिखाई दी। संदेह होने पर उन्होंने बाइक को देखा तो वहां पर कोई नजर नही आया। बाइक भी दुर्घटना ग्रस्त थी। इसके बाद उन्होंने अपने हमराहियों के साथ आसपास देखा तो बाइक सवार खून से लथपथ घायल अवस्था के कहार रहा था। इसके बाद उन्होंने 108 और 112 पर कॉल किया। कभी देर बाद कोई नही आया तो उन्होंने उसे बिना देर किए उसे जिला अस्पताल में भर्ती कराया। इतना ही नही उसके इलाज के लिए आर्थिक मदद भी की थी। आज युवक स्वास्थ्य होने पर परिजनों सहित झांसी से आकर इंस्पेक्टर बीएल यादव को सम्मानित किया।

No comments