Latest News

नहीं थमा रहा आक्रोश, गमगीन माहौल में आजाद बलात्कारियो को फांसी की मांग

कानपुर, सर्वोत्तम तिवारी । देश के आजाद बलात्कारियों को तुरंत फांसी की मांग को लेकर शनिवार को सामाजिक संस्था प्रगति अवोकिंग सोसाइटी की अध्य्क्ष कृष्णा शर्मा के नेतृत्व में  कृष्णा नगर चौराहे से कांशीराम हॉस्पिटल गांधी ग्राम तक एक विशाल आक्रोश जुलूस निकाला गया। जिसमे शहर की कई सामाजिक संस्थाओं के सदस्यों सहित क्षेत्रीय आम जनमानस शामिल हुआ इस दौरान दुष्कर्म के आरोपियों को तत्काल फांसी की मांग की गई। 

विगत दिनों देश मे हुई विभिन्न बलात्कार की घटनाओं में दोषियों को कोई सख्त सजा ना दिए जाने के कारण बलात्कार की घटनाएं रुकने का नाम नही ले रही है दिल्ली निर्भया कांड, हैदराबाद में महिला चिकित्सक कांड उत्तर प्रदेश के उन्नाव जिले में एक बेटी के साथ दुष्कर्म व जिंदा जला देने की घटना अन्य छुटपुट दुष्कर्म की घटनाओं से समूचा देश आक्रोशित है ऐसी घटनाओं पर कोई सख्त कानून ना बनाये जाने के कारण महिला अपराध की घटनाएं बढ़ रही है जिसके लिए हर तरफ विरोध प्रदर्शन चालू है। कृष्णा नगर से निकाले गए जुलूस में संस्था की अध्यक्ष कृष्णा शर्मा ने कहा कि हैदराबाद कांड के आरोपियों का एनकाउंटर पुलिस ने भले ही कर दिया हो लेकिन दुष्कर्म और हत्या जैसे अपराध की ये कोई सजा नही है उन्होंने कहा महिलाओं के साथ हो रही
छेड़छाड़, दुष्कर्म, हत्या जैसे अपराध को रोकने के लिए सरकार को अतिशीघ्र कोई सख्त कानून बनाना चाहिए। वरिष्ठ समाजसेविका/कार्पोरेट ट्रेनर डॉ. लकी चतुर्वेदी बाजपेयी ने कहा कि देश मे बहन बेटियां सुरक्षित नहीं हैं, महिलाओं के साथ हो रही घटनाओं से हर तरफ त्राहि-त्राहि मची है। हम सरकार से आग्रह करते हैं कि इस मुद्दे को गंभीरता से लें और ऐसे मामलों में नियंत्रण के लिए सख्त कानून बनाया जाये। समाजसेविका दीप्ति सिंह ने कहा हम सरकार के रवैये से खुश नही हैं, उन्नाव की घटना में दोषियों को तुरंत फांसी की सजा दी जाये।
डॉ. बिंदू सिंह ने कहा कि देश में महिलाओं के साथ हो रही बलात्कार की घटनाएं शर्मनाक हैं, इनपर रोक तभी लग सकती है जब कोई कड़ा कानून बनेगा।

दर्पण इंडिया के अध्यक्ष समाजसेवी जे. एस. चौहान ने कहा कि देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने आपको चौकीदार कहते हैं, देश की बहन बेटियों की लुट रही अस्मिता वाली घटनायें देश के प्रधान सेवक चौकीदार पर प्रश्नचिन्ह लगाती हैं। उपस्थित सभी ने एक स्वर में  ऐसी घटनाओं पर कड़े कानून और दोषियों को फांसी दिये जाने की मांग की।
जुलूस में आक्रोशित महिला पुरुष विभिन्न स्लोगन लिखी हाथों में तख्तियां लेकर नारेबाजी करते नजर आ रहे थे। उन्नाव की बेटी की मौत से जुलूस में शामिल जनमानस आक्रोशित दिखा। जुलूस के समापन के बाद मृत आत्मा की शांति के लिए दो मिनट का मौन रखकर मोमबत्तियां जलाकर श्रद्धांजलि दी गयी इस दौरान संस्था की अध्यक्ष कृष्णा शर्मा , प्रगति शर्मा, दीप्ती सिंह, अरविंद सिंह, डॉ.बिंदू सिंह, सर्वोत्तम तिवारी, लकी बाजपेयी चतुर्वेदी, अवनीश बाजपेयी, अनिल जैन, कमला देवी, संजीव शर्मा, मधु चौधरी, आभा निगम, जे. एस. चौहान, मनीषा सिंह, स्नेह अग्निहोत्री, अंकित भाटिया, चारु शर्मा, अनीता साहू, रजनी गुप्ता, संगीता साहू, किरण सिंह, ज्योति, बबिता, सुरेंद्र रावत सहित कई लोग शामिल थे।

No comments