Latest News

युवक ने दिव्यांग महिला के मांग में सिंदूर भर बनाया जीवनसाथी

माधौगढ़ (जालौन)। इसे कहते हैं इंसानियत और मानवीय संवेदनाओं का बेहतर उदाहरण कि एक युवक ने दोनों पैरों से दिव्यांग महिला के मांग में सिंदूर भर कर उसे अपनी जीवनसंगिनी बना लिया। नेक दिल की दरियादिली तो देखिए! दोनों पैरों से दिव्यांग ऊपर से उसके पति की मौत हो जाने के बाद पूरी तरह से टूट चुकी महिला को एक नया सहारा देकर उसने जिस जीवटता का परिचय दिया है,विरले ही ऐसे उदाहरण देखने को मिलते हैं। 

भले ही लोग समाज सेवा का दंभ भरें और विधवा महिला के पुनर्विवाह कराने को लेकर समाज को जागरूक करने का काम करें लेकिन नजीर ऐसे लोग बनाते हैं। जिन्हें न समाज की फिक्र होती है न किसी लोभ लालच की परवाह। ऐसे लोग तो सिर्फ अपने दिल की सुनते हैं और किसी का दर्द दूर करने का वादा कर देते हैं। जी हां ऐसा ही वादा प्रमोद पुत्र राम सिंह निवासी ऊमरी थाना रेंढ़र ने पति की मृत्यु के बाद बेसहारा हुई भुआ थाना सहसों चकरनगर इटावा निवासी महिला उमा देवी को अपना जीवनसाथी बनाकर समाज के सामने नजीर बना दी। दोनों ने तहसील में लिखापढ़ी कर एक दूसरे का हाथ थाम लिया।

No comments