Latest News

शिक्षा जीवन पर्यंत चलने वाली प्रक्रिया

सरस्वती विद्यामंदिर में आयोजित की गई प्रधानाचार्यों की बैठक 

बांदा, कृपाशंकर दुबे । विद्या भारती द्वारा संचालित कानपुर प्रांत के सभी प्रधानाचार्यों की बैठक में शिक्षण व्यवस्था सुदृढ़ करने संबंधी कार्यों पर चर्चा के साथ अन्य कार्यक्रमों की रूपरेखा तय की गई। कहा गया कि शिक्षा जीवन पर्यंत चलने वाली प्रक्रिया है। इस प्रक्रिया के अधारभूत अंग के रूप में प्रधानाचार्य की भूमिका जहाज के कप्तान की तरह होती है।
कार्यक्रम को संबोधित करते वक्ता।
प्रयागराज रोड स्थित सरस्वती विद्या मंदिर इंटर कालेज में सोमवार को राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ की अनुषांगिक संस्था विद्या भारती द्वारा संचालित कानपुर प्रांत के प्रधानाचार्यों की बैठक हुई। उद्घाटन कानपुर प्रांत संगठन मंत्री सुनील कुमार, प्रदेश निरीक्षक आत्मानंद व झांसी संभाग निरीक्षक राधेश्याम द्विवेदी ने दीप प्रज्वलन एवं सरस्वती वंदना के साथ किया। संगठन मंत्री ने कहा कि वर्तमान समय में प्रधानाचार्य की एक आदर्श विद्यालय एवं समाज के निर्माण में महत्वपूर्ण भूमिका होती है। आज समाज में रोज नए-नए परिवर्तन हो रहें हैं। प्रधानाचार्यों को नूतन विषय वस्तु जानने की आवश्यकता है। प्रदेश निरीक्षक ने कहा कि शिक्षा जीवन पर्यंत चलने वाली
कार्यक्रम में मौजूद प्रधानाचार्य व शिक्षक।
प्रक्रिया है। इस प्रक्रिया के अधारभूत अंग के रूप में प्रधानाचार्य की भूमिका जहाज के कप्तान की तरह होती है। इस बैठक का उद्देश्य समाज को नई दिशा दिखाने का संकल्प धारण किए हुए प्रधानाचार्यों को नवीन विधाओं से अवगत कराना है। बैठक के दौरान ब्लाक स्तर पर छात्र-छात्राओं की शिक्षण व्यवस्था सुदृढ़ करने संबंधी कार्यों पर चर्चा की गई। साथ ही आगामी कार्यक्रमों की रूपरेखा तय करते हुए शिक्षकों से सुझाव मांगे गए। इस मौके पर विद्यालय अध्यक्ष संतोष कुमार सिंह, प्रबंधक विजय कुमार ओमर, प्रधानाचार्य रामकृष्ण वाजपेयी, रामभरत त्रिपाठी, नारायण तिवारी, राजेंद्र बाबू सिंह, केशव प्रसाद शुक्ल, विष्णुदत्त पाठक, मीडिया प्रभारी राजेंद्र कुमार गुप्ता आदि उपस्थित रहे। बैठक का संचालन मनोज अग्रवाल ने किया। 

No comments