Latest News

गायों की मौत को लेकर ग्रामीणों ने किया हंगामी विरोध प्रदर्शन

ऐहतियात के तौर पर कोतवाली पुलिस पहुंचा मौके पर

जालौन (उरई), अजय मिश्रा । गौशालाओं में बंद जानवरों को ठंड से बचाने के लिए पर्याप्त साधन न होने के कारण जानवरों की मौत लगातार हो रही है। प्रतापपुरा गौशाला में में शनिवार की रात को 4 गायों की मौत होने का मामला शांत ही नहीं हो पाया था कि रविवार की रात को 3 गायों की मौत हो गई। गायों की मौत की घटना को लेकर ग्रामीणों ने सोमवार को विरोध करना शुरू कर दिया है। ग्रामीणों के विरोध प्रदर्शन पर प्रधान की शिकायत पर पुलिस फोर्स मौके पर पहुंच गया तथा पशु चिकित्साधिकारी को मौके पर बुलवाकर शवों का पोस्टमार्टम कराया तथा ग्रामीणों को समझा बुझाकर मामला शांत कराया।
ग्रामीणों को समझाते एस डी एम।
विकास खंड के ग्राम प्रतापपुरा में बनी अस्थाई गौशाला में शनिवार के बाद रविवार की रात को भी गायों की मौत हो गई। शनिवार को 4 तथा रविवार की रात को 3 गायों की मौत हो गई। लगातार 2 दिन से हो रही जानवरों की मौत तथा उनके वायरल होते वीडियों के बाद सोमवार को गांवों का माहौल खराब हो गया। ग्रामीणों के विरोध को देखते हुए प्रधान दीपक श्रीवास्तव की मांग पर कोतवाल सुनील कुमार सिंह पुलिस फोर्स के साथ मौके पर पहुंच गये तथा ग्रामीणों की शिकायतों को सुनने के बाद पशु चिकित्साधिकारी डां रविन्द्र सिंह को घटना की जानकारी देकर मौके पर मृत 2 गायों व 1 बछड़े का पोस्टमार्टम कराया तथा ग्रामीणों से गौशाला के संचालन में सहयोग करने की सलाह के साथ अनावश्यक गांव का माहौल खराब न करें।

ऐतिहातन पूरे दिन डटा रहा पुलिस बल

घटना जानकारी होने पर उप जिलाधिकारी सुनील कुमार शुक्ला, एडीओ पंचायत रमाशंकर प्रजापति, कोतवाल सुनील कुमार सिंह कोतवाली पुलिस फोर्स के साथ मौके पर पहुंच गये। गांव का माहौल खराब न हो इसलिए कोतवाल अपने फोर्स के साथ पूरे दिन गांव में डटे रहे।

ग्रामीणों ने की प्रधान से की अभद्रता

प्रधान दीपक श्रीवास्तव ने आरोप लगाया है कि गौशाला में गायों की मौत के बाद ग्रामीणों ने उनके साथ गौशाला में सहयोग की जगह अभद्रता की तथा गाली-गलौज की जिसकी जानकारी उन्होंने पुलिस को दे दी है।

क्या कहते हैं जिम्मेदार

उपजिलाधिकारी सुनील कुमार शुक्ला ने बताया कि गांव में किसानों को फोरी राहत के इरादे से खलिहान की जगह पर तार लगवा कर जानवरों को रखा गया है। ग्रामीणों से बात हो गई है जन सहयोग से गायों के खाने पीने की व्यवस्था की जाएगी।

No comments