Latest News

सत्य योजक मिल जाए तो विकलांगता नहीं आती आड़े: सीएम

खराब मौसम से टला गृहमंत्री का आगमन

चित्रकूट, सुखेन्द्र अग्रहरि। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि हिंदी भूषण के रूप में जगदगुरु रामभद्राचार्य सम्मानित हुए हैं। हिंदी जगत ने उनका अभिनंदन किया है। अभिनन्दन स्वरूप में ताम्रपत्र और अंग बस्त्र के साथ राशि भी प्रदान की गई। बताया कि गृहमंत्री अमित शाह मौसम खराब होने के चलते नहीं आ सके। लखनऊ और दिल्ली का मौसम खराब है। बिजिबिल्टी बहुत कम है। उनकी जगह मुख्यमंत्री योगी ने उपाधि पाने वाले छात्र छात्राओं को बधाई दी। विश्व विद्यालय में दीक्षांत समारोह का कार्यक्रम प्राचीन भारत की प्रणाली को याद करा
देता है। सत्य योजक अगर कोई मिल जाये तो विकलांगता कभी आड़े नही आती। विश्व के विख्यात वैज्ञानिक थे जो पूर्ण रूप से विकलांग हो गए थे लेकिन उन्होंने भी हिम्मत नही हारी। हम उनकी याद आज भी करते है। उच्च शिक्षा के संस्थान अराजकता के अड्डे नही बनते। जगदगुरु रामभद्राचार्य का फोन आता था कि रामचंद्र भूमि का फैसला कब होगा, राम मंदिर बनेगा तो मैं कहता था अवश्य बनेगा। कितना बड़ा फैसला आया अयोध्या में 500 वर्षों के बाद। देश के पीएम मोदी जी ने कहा उसको विकलांग नही बोल सकते, उनके अंदर भी प्रतिभा है, इसलिए उन्हें दिव्यांग कहा और उन्हें अवसर दिया। दिव्यांगजनो की श्रेणी में नौकरी में अवसर मिल सके उनके लिए पीएम ने काम किया। दिव्यांगजनो के पेंशन में बढ़ोतरी की। इस विश्व विद्यालय को दिव्यांगजन विभाग से जोड़कर प्रत्येक वर्ष सहयोग देकर अनवरत चलाते रहेंगे। विश्व विद्यालय की चिंता को भी समाप्त कराएंगे। 

विवि का किया भ्रमण
चित्रकूट। जेआरएचयू के दीक्षांत समारोह के बतौर मुख्य अतिथि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्रदेव सिंह के साथ 12ः50 बजे चित्रकूट इंटर कालेज में उडनखटोला से उतरे। हेलीपैड से कार द्वारा विश्व विद्यालय पहुंचे। भ्रमण करने के बाद अष्टवक्र सभागार का लोकार्पण किया। मौसम खराब होने के चलते कामतानाथ न जाकर सीधे हेलीपैड स्थल आए और हेलीकाप्टर से लखनऊ के लिए रवाना हुए। 

गृहमंत्री ने दिया आश्वासन
चित्रकूट। दिव्यांग विश्व विद्यालय के दीक्षांत समारोह में शामिल होने के लिए गृहमंत्री अमित शाह व मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को आना था, लेकिन मौसम खराबी के चलते गृहमंत्री नहीं आ सके। आजीवन कुलाधिपति ने बताया कि आगामी दीक्षांत समारोह में गृहमंत्री शिरकत करेंगें। 

करीब तीन घंटे बाधित रहा यातायात
चित्रकूट। मुख्यमंत्री के आगमन को लेकर सवेरे से पुलिस प्रशासन हलाकान रहा। 12 बजने के बाद चित्रकूट इंटर कालेज से लेकर कामतानाथ मंदिर प्रमुख द्वार तक आवागमन रोक दिया गया। हर गली कूचे पर पुलिस तैनात रही। मार्ग बंद करने के लिए बैरीकेटिंग की गई थी। लगभग तीन घंटे तक आवागमन बाधित रहा। ऐसे में चित्रकूट जाने वाले श्रद्धालुओं को भारी दिक्कतें हुई। 

No comments