Latest News

नव परिवर्तन कर रामायण मेला को दें भव्यता

डीएम ने आयोजन कमेटी गठित कर मेला आकर्षक कराने के दिए निर्देश

चित्रकूट, सुखेन्द्र अग्रहरि। जिलाधिकारी शेषमणि पाण्डेय की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभागार में आगामी 21 से 25 फरवरी तक प्रांतीय मेला समारोह के संबंध में मेला समिति के सदस्यों एवं अधिकारियों के साथ बैठक संपन्न हुई।

जिलाधिकारी ने कहा कि रामायण मेला को आकर्षण बनाया जाए। जिस प्रकार से रामघाट पर भव्य आरती का आयोजन किया जाता है ठीक उसी तरह रामायण मेला को भी भव्य तरीके से मनाया जाए। इसमें परिवर्तन करने की जरूरत है। ताकि लोगों के आकर्षण का केंद्र रहे। प्रशासन की पूरी टीम व्यवस्था में रहेगी। भव्यता के लिए राय लिया जाए। कहा कि कार्यकारी कमेटी के अलावा आयोजन कमेटी भी बनाई जाए, क्योंकि रामायण मेला अब प्रांतीय मेला हो गया है। अपर जिलाधिकारी से कहा कि आयोजन समिति में शासकीय अधिकारियों व जनप्रतिनिधियों को भी शामिल किया जाए। यह मेला अपर जिलाधिकारी तथा अपर पुलिस अधीक्षक के संयुक्त गठन में आयोजित किया जाएगा। जिन-जिन विभागों की प्रदर्शनी लगाई जानी है वह अभी से तैयारी कर ले। पर्यटन अधिकारी को निर्देश दिए कि अन्य जनपदों पर जहां प्रांतीयकृत मेला का आयोजन होता है वहां से दिशा-निर्देश भी प्राप्त कर लिए जाए। अधिशाषी अधिकारी नगर पालिका को निर्देश दिए कि बेड़ी पुलिया से लेकर रामघाट तक अच्छी प्रकार से लाइट की व्यवस्था भव्यता के साथ कराई जाए। रामायण मेला कमेटी के पदाधिकारियों से कहा कि पांच दिन का अलग-अलग प्रतिदिन के मुताबिक मिनट टू मिनट कार्यक्रम बनाकर उपलब्ध कराएं। इसमें अच्छे विद्वानों को भी बुलाया जाए और आम लोगों को इस मेला से जोड़ें। स्थानीय कलाकारों को भी शामिल करें। स्थानीय लोगों को शामिल कर मेला को जन मेला बनाया जाए। बुंदेलखंडी गीतों पर भी कार्य दिया जाए। राष्ट्रीय रामायण मेला के साथ चित्रकूट राष्ट्रीय रामायण मेला महोत्सव का नाम दिया जाए। बैठक में अपर जिलाधिकारी जीपी सिंह, प्रभागीय वन अधिकारी कैलाश प्रकाश, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा विनोद कुमार सहित संबंधित अधिकारी व रामायण मेला के कार्यकारी अध्यक्ष राजेश कुमार करवरिया, प्रचार मंत्री करुणा शंकर द्विवेदी एवं अन्य व्यापारी मौजूद रहे।


No comments