Latest News

स्वामी दयानंद एकेडमी की तरफ से जलूस

देवेश प्रताप सिंह राठौर 
(वरिष्ठ पत्रकार)

झांसी स्वामी दयानंद एकेडमी की तरफ से  छात्रों द्वारा जुलूस के तौर पर हैदराबाद के जघन्य अपराध पर रैली निकाली गई जिसमें उन्होंने हैदराबाद (तेलंगाना) पुलिस के कार्यों पर गर्व महसूस किया तथा छात्रों द्वारा तख्ती पर लिखा था गर्व है हैदराबाद पुलिस पर, परंतु बलात्कार जैसे जगन अपराध को रोकना जरूरी है। परंतु आज के


अभिभावक को चाहिए आज अपने बच्चों के ऊपर ध्यान दें, उनके पहनावे पर ध्यान दें ,और उनकी शिक्षा किस स्तर पर कहां किस तरह जा रहे हैं उस पर ध्यान दें ,पैसे खर्च करना ही एक महत्त्व नहीं रखता है बच्चे हमारे क्या कर रहे हैं उस पर भी नजर रखने की जरूरत है ।पैसे देकर अपनी जिम्मेदारियों से मुक्त होना ही गलत रास्ते में जाने का रास्ता तय करती है। इस पर ध्यान देने से  अपराध पर अंकुश लग सकेगा आज हैदराबाद में जो एनकाउंटर हुए वह ठीक है जिस तरह का जघन्य अपराध किया गया, अगर न्यायपालिका सख्त हो तो यह स्थिति नहीं बनेगी क्योंकि देश में एक भावना बन गई है कि न्यायपालिका बरसों बरसों तक केस चलाती रहती है और


निर्भया जैसे लोगों को भी न्याय नहीं मिल पा रहा है। कानूनी व्यवस्था शिथिलता के कारण ही हैदराबाद में काउंटर की स्थिति वनी है सरकार को चाहिए कि सख्त कानून हो कानून के दायरे में अपराधियों को सजा मिले वह  बेहतर होता है, देश हित में इस तरह के हैदराबाद के काउंटर होना कानून के ऊपर एक प्रश्न चिन्ह लगता है लचर व्यवस्था का प्रतीक होने के कारण ही आज यह स्थित बनती जा रही है। बलात्कार रेप की जो घटनाएं हो रही है इन को रोकना जरूरी है पर इन पर पूर्ण रूप से अंकुश लगाना संभव नहीं है क्योंकि सरकारें और लोग जन जन तक जागरूकता फैला सकती हैं हर एक व्यक्ति किसी को सुरक्षा  नहीं कराई जा सकती है ऐसा मेरा मानना है।

No comments