Latest News

आम रास्ते से दबंगों का कब्जा हटाने की मांग

ग्रामीणों ने समाधान दिवस में सौपा पत्र

चित्रकूट, सुखेन्द्र अग्रहरि। आम रास्ते में दबंगों के कब्जा करने से परेशान ग्रामीणों ने संपूर्ण समाधान दिवस में डीएम को शिकायती पत्र सौपकर आम रास्ता से कब्जा मुक्त कराने की मांग की है।
मंगलवार को संपूर्ण समाधान दिवस में डीएम को सौपे पत्र में सीतापुर रूलर के ग्रामीण राममिलन, अजय, नेहा, सुमन देवी, भारती, अंजली, कामता प्रसाद आदि ने बताया कि सीतापुर से शिवरामपुर संपर्क मार्ग में मनुवा

तालाब के पास वर्षों से घर बनाकर रहते हैं। जहां से निकले आम रास्ते में स्थानीय दबंगों ने कब्जा कर लिया है। आवागमन करने पर अभद्र भाषा का प्रयोग कर जान से मारने की धमकी दी जाती है। ग्रामीणों ने बताया कि मार्ग को दबंग अपनी जमीन बता रहे हैं। मार्ग अवरुद्ध होने से आवागमन के लिए भारी परेशानियों का सामना करते हैं। कई बार चैकी में शिकायत करने के बावजूद कार्यवाही नहीं की गई। मांग किया कि आम रास्ते से अवैध कब्जा हटवाते हुए आवागमन शुरू कराया जाए। इस पर डीएम ने तहसीलदार को मौके पर जाकर जांच रिपोर्ट उपलब्ध कराने के निर्देश दिए हैं।

प्रधान पर आवास, शौचालय न देने का लगाया आरोप

चित्रकूट। प्रदेश सरकार की योजनाओं का लाभ न मिलने पर ग्रामीण महिलाओं ने संपूर्ण समाधान दिवस में फरियाद लगाई है। मंगलवार को सदर ब्लाक अंतर्गत ग्राम छेछरिहा खुर्द की मीरा, कैलशिया, गीता, निराशा, सावन, गीता, सुशीला आदि ने डीएम को सौपे पत्र में आरोप लगाते हुए बताया कि प्रधान के करीबी योजनाओं का लाभ दिलाने के नाम पर कई बार रुपए ले चुके हैं। बावजूद इसके आज तक उन्हें लाभ नहीं मिला। बताया कि आवास, शौचालय के लाभ से वंचित हैं। प्रधान से कहने पर डपटकर भगा दिया जाता है। उसके करीबी उज्जवला योजना का फार्म भरने के लिए सुविधा शुल्क लिया है। अधिकारियों के पास जाने पर कहा जाता है कि सूची में नाम नहीं है। बताया कि थक हारकर समाधान दिवस में समस्यायें सुनाया है। इस पर डीएम ने डीपीआरओ को जांच के निर्देश दिए हैं।

गलत रिपोर्ट के चलते नहीं मिला आवास 

चित्रकूट। विकासखण्ड कर्वी के दुबारी गांव की गीता पत्नी राधेश्याम ने संपूर्ण समाधान दिवस में सौपे शिकायती पत्र में बताया कि श्रम विभाग में रजिस्टर्ड है। मजदूरी का कार्य करती है। आवास योजना के लिए आवेदन किया था। जिस पर गलत रिपोर्ट लगाने से लाभ से वंचित किया जा रहा है। बताया कि कच्चा अधूरा घर है। कई बार अधिकारियों से कहने के बावजूद कोई सुनवाई नहीं हो रही। बताया कि वह बेहद गरीब है। मांग किया कि जांच कराकर आवास योजना का लाभ दिलाया जाए। 

No comments