Latest News

नागरिकता संशोधन बिल की प्रतियां जलाकर कांग्रेसियों ने किया प्रदर्शन

जिलाध्यक्ष के नेतृत्व में बुलेट चैराहा व शहर कमेटी ने कलेक्ट्रेट में फूंका बिल

फतेहपुर। नागरिकता संशोधन बिल को लेकर शीर्ष नेतृत्व के आह्वान पर कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने जमकर प्रदर्शन करने के साथ बिल की प्रतियां जलाकर अपना विरोध दर्ज किया बिल को संविधान विरोधी बताते हुए आग के हवाले कर सरकार से बिल वापस लिए जाने की मांग किया।

बुधवार को शीर्ष नेतृत्व के आह्वान पर कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने नागरिकता संशोधन बिल का पर विरोध प्रदर्शन कर बिल को वापस लिए जाने की मांग को लेकर प्रदर्शन किया। जिलाध्यक्ष अखिलेश पाण्डेय के नेतृत्व मे कार्यकर्ता जिला कार्यालय में एकत्र हुए और सरकार विरोधी नारेबाजी करते हुए बुलेट चैराहे पर पहुंचे जहां बिल को संविधान के मूल भावना के विपरीत करार देकर बिल की प्रति को आग के हवाले कर ग्रहमंत्री अमित शाह एव प्रधानमंत्री से बिल को वापस लिए जाने की मांग किया। कार्यकर्ताओ को संबोधित करते हुए जिलाध्यक्ष अखिलेश पाण्डेय ने कहा कि सरकार द्वारा लाया गया बिल पूरी तरह से देश के संविधान के विपरीत है। उन्होंने कहा कि भारत के संविधान में धर्म के आधार पर भेदभाव नही किया गया। देश में सभी धर्मों के लोगो का सम्मान सुरक्षित रखा गया है। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार द्वारा पेश बिल संविधान को आस्था के विपरीत एवं धार्मिक अलगाव को बढ़ावा देने वाला है। उन्होंने बिल को काला कानून बताते हुए कहा कि सरकार यदि इसे वापस नही लेती तो शीर्ष नेतृत्व के निर्देशानुसार कांग्रेस पार्टी बिल को वापस लेने के लिये संसद से लेकर सड़क तक विरोध दर्ज करायेगी। इस मौके पर वरिष्ठ सभासद विनय तिवारी, सुधाकर अवस्थी, युवक कांग्रेस जिलाध्यक्ष राजन तिवारी, महिला जिलाध्यक्ष हेमलता पटेल, मोहसिन खान, पीसीसी सदस्य शिवकांत, मनीष पटेल, बबलू कालिया रहे। वही शहर कांग्रेस के निवर्तमान अध्यक्ष मो0 आरिफ गुड्डा के नेतृत्व में कार्यकर्ता विद्यार्थी चैराहे से जुलूस निकाल कर कलेक्ट्रेट पहुंचे। जहाँ बिल को लेकर गृहमंत्री व सरकार विरोध में जमकर नारेबाजी व प्रदर्शन करते हुए बिल की प्रतियों को आग के हवाले कर सरकार से संविधान विरोधी बिल वापस लिए जाने की मांग किया। विरोध प्रदर्शन के पश्चात कार्यकर्ता शहर अध्यक्ष मो0 आरिफ गुड्डा की अगुवाई में कलेक्ट्रेट स्थित अम्बेडकर पार्क पहुंचे जहां गेट पर सांकेतिक धरना दिया। कार्यकर्ताओ को सम्बोधित करते हुए शहर अध्यक्ष मो आरिफ गुड्डा ने कहा कि सरकार द्वारा पेश किया गया नागरिकता संशोधन बिल धर्म पर आधारित है। जो भारत जैसे सेक्युलर देश के संविधान की भावना के विपरीत है। उन्होंने इसे देश को धर्म के आधार पर बांटने वाला बताते हुए सरकार से बिल को तत्काल वापस लिए जाने की मांग किया। साथ ही कहा कि यदि सरकार इस बिल को वापस नही लेती तो कार्यकर्ता धरना प्रदर्शन करने के साथ भूख हड़ताल पर बैठने को मजबूर हो जायेगे। इस मौके पर पूर्व विधायक अमर नाथ सिंह अनिल, ओम प्रकाश गिहार, फूल सिंह यादव, नीटू मिश्रा, शादाब अहमद, पंडित राम नरेश महाराज, महेश द्विवेदी, एजाज अहमद समेत बड़ी संख्या में कार्यकर्ता मौजूद रहे।



No comments