Latest News

गौशालाओं में दिखने लगा डीएम के कड़े निर्देशों का असर

भूसे-चारे के साथ मवेशियों को ठंड से बचाने को प्रधान-सचिव कर रहे पर्याप्त ब्यवस्थाएँ 

चित्रकूट,सुखेन्द्र अग्रहरि। गौशालाओं में बंद अन्ना मवेशियों को पर्याप्त भूसा-चारे की ब्यवस्था रखने और  कड़ाके की पड़ रही ठंड से बचाने को जिलाधिकारी शेषमणि पांडेय के कड़े निर्देशों का असर जिले की गौशालाओं में दिखने लगा है।अब अधिकतर प्रधान व सचिव ज्यादा से ज्यादा समय गौशालाओं में व्यतीत कर  मवेशियों की ब्यवस्थाओं में जुटे रहते हैं।इसका जीता-जागता उदाहरण कर्वी ब्लाक क्षेत्र के ग्राम  पंचायत बनकट में बनी गौशाला में देखने को मिला।यहां के प्रधान प्रतिनिधि विद्यासागर यादव व सचिव अनिल सिंह की देख-रेख में हाल

ही में बनी नई गौशाला में करीब 105 मवेशी बन्द हैं।यहां मवेशियों के चारे-भूसे की पर्याप्त ब्यवस्था होने के साथ ही पीने के पानी को बनी चरही में रोजाना टैंकर से ताजा पानी भरवाया जाता है,इसके अलावा मवेशियों को ठंड से बचाने को टीन सेड के चारों तरफ तिरपाल/पन्नी की ब्यवस्था के साथ ही लगातार अलाव भी जलाया जाता है।बता दें कि बीते सप्ताह ठंड के दौरान जिले की कई गौशालाओं में मवेशियों के मरने की खबरें मिलने पर डीएम शेषमणि पांडेय ने सम्बन्धित ग्राम प्रधान व सचिवो के खिलाफ कड़ी कार्यवाई की थी।साथ ही कड़े निर्देश जारी कर कहा था कि कहीं भी गौशालाओं में भूख और ठंड से मवेशियों के मरने की खबर मिली तो सम्बन्धितों को बख्शा नहीं जाएगा।जिसके मद्देनजर जिले की अधिकतर गौशालाओं में अब चाक-चौबन्द ब्यवस्थाएँ दिखने लगी हैं।

No comments