Latest News

जबरदस्त शीतलहरी से एक और वृद्ध की मौत

गुनगुनी धूप खिलने से ठंड से लोगों को मिली कुछ राहत 
बर्फीली हवाओं से बढ़ी गलन ने लोगों को किया बेजार 
अलाव जलाकर ठंड से बचाव करते नजर आए लोग 

बांदा, कृपाशंकर दुबे । सोमवार को आसमान साफ होने के कारण कड़ाके की गलनभरी सर्दी के बीच निकले सूर्यदेव की गुनगुनी धूप ने लोगों को ठंड से काफी राहत दी। दोपहर के समय धूप खिलने से लोग गली-मुहल्लों और सड़कों पर खड़े होकर धूप सेंकते नजर आए। धूप निकली होने के बावजूद लोग खुद को गर्म लिहाफ से
जबरदस्त शीतलहरी में सोमवार की सुबह कोचिंग पढ़ने जातीं छात्राएं 
ढके हुए थे। हालांकि शाम होते-होते मौसम एकबारगी फिर से ठंडा हो गया, जिससे लोग अपने घरों में दुबक गए। जो लोग घर से बाहर रहे वह अलाव जलाकर किसी तरह से बदन सेंकते हुए ठंड से अपना बचाव करते नजर आए। सोमवार की सुबह भी कोहरे की धुंध छाई रही, लेकिन दिन चढ़ने के साथ ही आसमान साफ हो गया। इधर, ठंड की चपेट में आकर एक वृद्ध की मौत हो गई। 
शीतलहरी में अलाव जलाकर ठंड से अपना बचाव करते लोग
जबरदस्त ठंड के चलते लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। सोमवार की भोर में जब लोगों की नींद खुली तो आसमान पूरी तरह से कोहरे की आगोश में था। लेकिन लेकिन जैसे-जैसे दिन चढ़ा कोहरे की धुंध साफ हो गई। इधर आमसन में बदली भी कम थी। इसको लेकर दोपहर के समय तकरीबन दो घंटे के लिए गुनगुनी धूप खिल उठी। धूप खिलने पर लोग अपने घरों के बाहर चैराहों और सड़क के किनारे खड़े होकर धूप सेंकते नजर आए। दो घंटे की खिली धूप ने लोगों को ठंड से काफी हद तक राहत दी। हालांकि शाम होते-होते अचानक फिर से मौसम ठंडा हो गया। गुनगुनी धूप होने के बावजूद लोगों को सर्द हवाओं ने सर्दी और गलन का एहसास कराया। अब तक ठंड से एक दर्जन से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। जबरदस्त गलन और बर्फीली हवाएं चलने से तापमापी पारे की सुई लगातार नीचे की ओर जा रही है। जबरदस्त ठंड के चलते जनजीवन अस्त-व्यस्त है। लोग किसी तरह से कड़ाके की ठंड में दिन गुजारते हुए अपना बचाव कर रहे हैं। इधर बिसंडा थाना क्षेत्र के पारा बिहारी गांव निवासी अलाउद्दीन (65) पुत्र शमसुद्दीन दो दिन पहले ठंड की चपेट में आने से बीमार हो गया। घर वालों ने कस्बे के एक प्राइवेट अस्पताल में उपचार कराया। हालत में सुधार न होने पर परिजनों ने उसे जिला अस्पताल में भर्ती कराया। सोमवार को सुबह जिला अस्पताल में उपचार के दौरान उसने दम तोड़ दिया। अब तक ठंड से तकरीबन एक दर्जन से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। 

No comments