Latest News

पराली जलाने की रोकथाम को गठित हुई समिति

चित्रकूट, सुखेन्द्र अग्रहरि। शासनादेश अन्तर्गत पराली, कृषि अपशिष्ट को न जलाये जाने की रोकथाम के लिए दिये गये निर्देश के क्रम में जिलाधिकारी शेषमणि पाण्डेय ने जानकारी देते हुए बताया कि पराली, कृषि अपशिष्ट जलाये जाने की रोकथाम के संबंध में दोषी के विरूद्ध अर्थदण्ड के साथ ही सुसंगत धाराओं में वैधानिक कार्यवाही कराये जाने के कड़े निर्देश दिये गये हैं। उप कृषि निदेशक की उपलब्ध करायी गई आॅनलाइन

सूचनानुसार जनपद में कुल सात स्थानों पर पराली, कृषि अपशिष्ट को जलाये जाने की घटना संज्ञान में लायी गई है। उन्होंने बताया कि उक्त के संबंध में यथा निर्देशानुसार दिये गये विस्तृत दिशा निर्देश के क्रम में पराली, कृषि अपशिष्ट जलाये जाने की रोकथाम एवं प्रभावी कार्यवाही, अनुश्रवण के लिए जनपद मुख्यालय स्तर पर अधिकारियों की संयुक्त समिति गठित की गई है। जिसमें एडीएम गणेश प्रसाद, एएसपी बलवंत चैधरी, उप कृषि निदेशक टीपी शाही है। डीएम ने समिति के  अधिकारियों को निर्देशित किया हे कि ग्राम पंचायत स्तर पर पराली, कृषि अपशिष्ट जलाये जाने की घटना की सूचना प्राप्त होते ही संबंधित विभागीय अधिकारियों को यथावश्यक सहयोग लेते हुए दोषी के विरूद्ध अर्थदण्ड, सुसंगत धाराओं में वैधानिक कार्यवाही कराते हुए पराली जलाये जाने की रोकथाम एवं जागरूकता के लिए जनपद स्तर पर वयापक प्रचार-प्रसार कराया जाना सुनिश्चित करें। कृत कार्यवाही की सूचना से समय-समय पर अनिवार्य रूप से अवगत कराया जाए।

No comments