लेखपालों की अनदेखी सरकार को पड़ेगी भारी - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Post Top Ad

Responsive Ads Here

Wednesday, December 11, 2019

लेखपालों की अनदेखी सरकार को पड़ेगी भारी


  • लेखपालों ने कार्य बहिष्कार कर किया विरोध प्रदर्शन 
  • पिछले काफी समय से संघर्षरत हैं लेखपाल 


तहसील में धरना प्रदर्शन करते लेखपाल।

बांदा। उत्तर प्रदेश लेखपाल संघ तहसील इकाई का आंदोलन लगातार जारी है। लेखपालों ने कहा है कि प्रदेश सरकार को उनकी अनदेखी भारी पड़ेगी। आठ सूत्रीय मांगों को लेकर आंदोलन कर रहे लेखपालों का कहना है कि लगातार आंदोलन जारी रहेगा। 

लेखपाल अपनी विभिन्न मांगो लेकर पिछले काफी समय से आंदोलनरत है। लेकिन सरकार इनकी मांगों पर कोई ध्यान नहीं दे रही है। इसी क्रम में बुधवार को उत्तर प्रदेश लेखपाल संघ की तहसील इकाई ने कार्य बहिष्कार कर सदर तहसील परिसर में धरना प्रदर्शन किया। धरना सभा को संबोधित करते हुए प्रांतीय आडिटर मूलचंद्र पटेल ने कहा कि लेखपालों की मांगों के प्रति सरकार कोई रुचि नहीं ले रही। प्रदेश सरकार की हठधर्मिता से जनमानस परेशान है। जिलाध्यक्ष शिवचंद्र यादव ने कहा कि जब तक शासन हमारी मांगों को नहीं मानता है। तब तक प्रांतीय नेतृत्व के निर्देश पर आंदोलन जारी रहेगा। तहसील अध्यक्ष बालकृष्ण शिवहरे ने लेखपालों से पूर्ण निष्ठा, एकजुटता व अनुशासन में रहकर शांतिपूर्ण तरीके से आंदोलन की अपील की। साथ ही सभी आंदोलन में शत प्रतिशत उपस्थित रहने पर जोर दिया। इस मौके पर राकेश कुमार बुंदेला, छंगूराम, गौरव सिंह, गुलाब सिंह, भानु प्रताप गुप्ता, राजेंद्र सिंह पटेल, अलखराम अवस्थी, महेंद्र कुशवाहा, राजकुमार पटेल, राकेश बाबू, राजेंद्र निगम, कुमारी निशा, कुमारी प्रीति कुशवाहा, कुमारी रजनी, रमेश यादव, अशोक तिवारी, कमल कुमार पांडेय समेत तमाम लेखपाल शामिल रहे। धरना का संचालन रवींद्र कुमार यादव ने किया। 

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages