Latest News

पानी संकट से जूझ रहे छावनी मुहल्ले के लोग


  • कलेक्ट्रेट में प्रदर्शन कर सौंपा ज्ञापन, कार्रवाई की मांग 


कलेक्ट्रेट में प्रदर्शन करतीं छावनी मुहल्ले की महिलाएं 

बांदा। गर्मी के दिनों में तो जल संस्थान शहर को पर्याप्त पानी उपलब्ध करा ही नहीं पाता है, दिसंबर माह के ठंड भरे मौसम में भी शहर के मुहल्लों में जल संस्थान पानी नहीं पहुंचा पा रहा है। छावनी मुहल्ले की महिलाओं ने मंगलवार को कलेक्ट्रेट परिसर में प्रदरर्शन किया और पानी संकट की समस्या से संबंधित ज्ञापन जिलाधिकारी को सौंपकर कार्रवाई किए जाने की मांग की है। महिलाओं ने कहा कि शिकायत करने के बावजूद जल संस्थान के अधिकारी कान में तेल डाले बैठे हुए हैं। 


पानी संकट से जूझ रहे छावनी मोहल्ले के तमाम महिलाओं और लोगों ने मंगलवार को कलक्ट्रेट में जिलाधिकारी कार्यालय के बाहर प्रदर्शन किया। प्रशासन को सौंपे ज्ञापन में कहा है कि जल संस्थान कर्मचारियों की मनमानी का दंश शहरी क्षेत्र के लोगों को झेलना पड़ रहा है। स्थिति यह है कि सर्दी के दिनों में भी मोहल्ले के लोगों को पीने के पानी के संकट से जूझना पड़ रहा है। इतना ही नहीं मोहल्ले में लगा हैडपंप पिछले कई महीनों से खराब पड़े हैं। कई शिकायतों के बाद भी इन्हें ठीक नहीं किया सका। इससे लोगों को पीने के पानी की भीषण समस्या का सामना करना पड़ रहा है। मोहल्ले में जल संस्थान की पाइप लाइन में लीकेज की वजह से पानी नहीं आता। इससे लोगों को मजबूरन दूर-दराज के हैंडपंपों से पानी ढोकर लाना पड़ रहा है। बताया कि कई जगह लीकेज होने से क्षेत्र में पेयजल आपूर्ति ठप पड़ी है। पिछले कई महीनों से लोग लीकेज को ठीक कराने के लिए विभाग के चक्कर लगा रहे है। लेकिन विभाग के जिम्मेदार अफसर हर बार बजट न होने का रोना रोकर अपनी जिम्मेदारी पूरी कर रहे हैं। लीकेज की वजह से पानी संकट बढ़ता जा रहा है। लोगों ने पेयजल संकट से निजात दिलाए जाने की फरियाद की है। ज्ञापन देने वालों में पुष्पा कश्यप, मीरा, गीता, पारूल, आशा, आरती, नेहा, रीना कश्यप, सावित्री, शांति, वर्षा कश्यप, गौरी, ऊषा रैकवार, शीला रैकवार आदि मौजूद रहीं। 

No comments