Latest News

खराब प्रगति मिलने पर डीएम नाराज

तत्काल शुरू कराएं सीएचसी मानिकपुर 
कार्यों में रुचि न लेने पर कार्यवाही के दिए निर्देश

चित्रकूट, सुखेन्द्र अग्रहरि। जिलाधिकारी शेषमणि पाण्डेय की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभागार में जिला स्वास्थ्य समिति शासी निकाय की बैठक संपन्न हुई। 
जिलाधिकारी ने अधीक्षक सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र मानिकपुर को निर्देश दिए की ओटी एवं लेबर रूम को तत्काल चालू कराएं तथा शीघ्र ही सिजेरियन प्रसव का कार्य प्रारंभ हो। प्रभारी चिकित्सा अधिकारी पहाड़ी को निर्देश दिए कि जो समस्याएं हैं उनका तत्काल निस्तारण करें। सफाई व्यवस्था ठीक ढंग से रहे। पेयजल के लिए अधिशाषी अभियंता जल निगम से संपर्क करें। आशा चयन में जो ग्राम प्रधान द्वारा रुचि नहीं ली जा रही उनके खिलाफ जिला पंचायत राज अधिकारी कार्यवाही कराएं। संयुक्त जिला चिकित्सालय में रोगी कल्याण समिति के अंतर्गत अनुश्रवण समिति की बैठक तत्काल कराई जाए। मुख्य चिकित्सा अधिकारी से कहा कि प्रगति की समीक्षा करें जिस स्तर पर कमी पाई जाए तो संबंधित अधिकारियों तथा कर्मचारियों के खिलाफ कार्यवाही की जाए। नीति आयोग के जिन बिन्दुओं में स्वास्थ्य विभाग की योजनाएं शामिल हैं उनमें जो मुख्य बिंदु शामिल है उनमें 90 प्रतिशत से प्रगति कम नहीं होना चाहिए। जनवरी माह में सुनिश्चित करा लिया जाए। जननी सुरक्षा योजना के बेनेफिशरी भुगतान पर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पहाड़ी व जिला अस्पताल की प्रगति कम पाए जाने पर कहा कि तत्काल इस में प्रगति लाएं। एंबुलेंस के संचालन में अगर देरी हुई और उसमें किसी भी प्रकार की घटनाएं या महिलाओं के प्रसव सड़क या रास्ता पर हुए तो संबंधित के खिलाफ कार्यवाही की जाए। मुख्य विकास अधिकारी डा महेन्द्र कुमार ने कहा कि आरबीएसके की टीम द्वारा कार्य नहीं कर रहे हैं इनके खिलाफ मुख्य चिकित्सा अधिकारी कार्यवाही कराएं। आंगनवाड़ी तथा विद्यालयों के बच्चों के परीक्षण से छूटने न पाए। जिलाधिकारी ने कहा कि आईसीडीएस व स्वास्थ्य विभाग को पता है कि गर्भवती महिला कहां है और बच्चा कहां पैदा हुआ है। लापरवाही के चलते लोगों की जान जाती है। इस पर विशेष कार्य किए जाएं। अन्यथा संबंधित जिम्मेदार के खिलाफ कार्रवाई अवश्य की जाएगी। मानिकपुर विकास खण्ड में प्लान बनाकर सभी योजनाओं पर
तत्काल कार्य कराए जो कार्य नहीं करते उनको हटाकर दूसरों को रखा जाए। उन्होंने कहा कि किसी भी एचआरडी की मृत्यु नहीं होना चाहिए। सभी प्रभारी चिकित्सा अधिकारी यह सुनिश्चित करें प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व दिवस पर बेहतर कार्य हो। भुगतान में किसी का उत्पीड़न नहीं होना चाहिए। निःशुल्क टैली मेडिसिन सुविधा की प्रगति पर कहा कि इसमें अपोलो हॉस्पिटल का सहयोग लिया जाए। वित्तीय व्यय की प्रगति को ठीक करें। कार्यदायी संस्थाओं की बैठक कराएं जिसमें मुख्य चिकित्सा अधिकारी पूरा विवरण सहित उपस्थित हों। उन्होंने कहा कि डीएचएस की बैठक में जो अनुमति दी जाती है उसमें शासनादेश के अनुसार ही खर्च किए जाएं। क्षय रोग नियंत्रण कार्यक्रम में प्रगति बहुत खराब है। संबंधित अधिकारियों तथा कर्मचारियों के खिलाफ कार्यवाही कराई जाए। हेल्थ एंड वेल्डेन सेंटर अच्छी तरह से बनाएं और उसमें मुख्य विकास अधिकारी से स्वीकृति ली जाए। उन्होंने कहा कि जिला चिकित्सालय कि जो एप्रोच रोड खराब है उसको तत्काल ठीक करा दिया जाए। आयुष्मान भारत योजना में कहा कि इस पर प्रगति लाएं। व्यापक अभियान चलाकर गोल्डन कार्ड बने। जिलाधिकारी ने मुख्य चिकित्सा अधिकारी को निर्देश दिए कि फीडिंग का कार्य अगर एक सप्ताह के अंदर पूरा नहीं होता है तो संबंधित डाटा इंट्री ऑपरेटरों को हटाकर दूसरी भर्ती की जाए। कार्य में किसी भी प्रकार की लापरवाही नहीं बरती जाए। उन्होंने बायोमेडिकल बेस्ट के अंतर्गत सरकारी चिकित्सा इकाइयों के मुख्य बिंदुओं पर कहा कि समिति का गठन कर बैठक में चर्चा कराई जाए। बैठक में संबंधित अधिकारी व प्रभारी चिकित्सा अधिकारी मौजूद रहे।

No comments