Latest News

मिशन इन्द्रधनुष अभियान का आज शुभारंभ

टीकाकरण न कराने वाले परिवारों से करेंगें काउंसलिंग 

चित्रकूट, सुखेन्द्र अग्रहरि। जनपद में मिशन इन्द्रधनुष अभियान के तहत बच्चों व गर्भवती महिलाओं का चार चरणों में होने वाले अभियान की शुरूआत को लेकर जिला प्रतिरक्षण अधिकारी ने पत्रकारों से रूबरू होकर बताया कि दो दिसम्बर से दो मार्च तक चलेगा।
रविवार को जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डा मुकेश ने बताया कि शासन के मंशानुरूप डीएम के निर्देशन में गर्भवती महिला व बच्चों को स्वस्थ्य व रोगों से बचाव के लिए जनपद में मिशन इन्द्रधनुष अभियान चलेगा। दो मार्च तक टीकाकरणे से छूटे सभी बच्चों व गर्भवती महिलाओं को टीके लगाए जाएगें। ताकि जनपद पूरी तरह प्रतिरक्षित हो सके। समस्त ब्लाकों का माइक्रोप्लान बना लिया है। लगभग दो हजार बच्चे व महिलाओं को टीके लगाये जाने हैं। पहला अभियान दो दिसम्बर, दूसरा छह जनवरी, तीसरा तीन फरवरी व चैथा चरण दो मार्च से

चलेगा। टीकाकरण के लिए आशा कार्यकत्री, विश्व स्वास्थ्य संगठन और यूनीसेफ टीमों के साथ सर्वे कार्य पूर्ण कर लिया है। सर्वे में टीकाकरण से छूटे आंशिक टीकाकरण व टीकाकरण न कराने वाले परिवारों के बच्चे चिन्हित किए गए हैं। उन्होंने कहा कि ऐसे परिवार है जो टीकाकरण से कतराते हैं। जिनकी काउंसलिंग होगी। बताया कि नौ बीमारियों के टीके लगाये जायेंगें। जिसमें 1443 बच्चे और 413 गर्भवती महिलाये हैं। अभियान में लगभग एक दर्जन विभाग शामिल है। उन्होंने बताया कि डिप्थीरिया, काली खांसी, हेपेटाइटिस बी, टिटनेस, पोलियो, टीवी और खसरा समेत नौ बीमारियों के टीके लगेंगें। अभियान में ऐसे क्षेत्र को लक्षित किया जाएगा जहां टीकाकरण कम हुआ है। तीन माह के बच्चे जो टीकाकरण से छूटे है, पांच माह के बच्चे जो पेंटावेलेंट वैक्सीन से पूर्ण या आंशिक रूप से छूट गए हैं, 12 माह से ऊपर के वह बच्चे जिन्हे मिजिल्स रूबेला की पहली बैक्सीन नहीं लगी है, 18 माह के एक बच्चे जिन्हे मिजिल्स रूबेला के दूसरे टीके नहीं लगे उनके टीकाकरण किये जायेंगें।

No comments