संयुक्त राज्य कर्मचारी परिषद ने लेखपालों के आन्दोलन का किया समर्थन - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Advt.

Advt.

Post Top Ad

Responsive Ads Here

Saturday, December 21, 2019

संयुक्त राज्य कर्मचारी परिषद ने लेखपालों के आन्दोलन का किया समर्थन

तेरहवें दिन भी जारी रहा लेखपालों का कार्य बहिष्कार एवं धरना प्रदर्शन
मांगे पूरी न होने तक आन्दोलन जारी रखने की चेतावनी

बांदा, कृपाशंकर दुबे । उत्तर प्रदेश लेखपाल संघ के प्रान्तीय आहवान पर जिला लेखपाल संघ भवन तहसील परिसर में छत्रपाल सिंह तहसील अध्यक्ष अतर्रा की अध्यक्षता में दस बजे से चार बजे तक सम्पूर्ण कार्य बहिष्कार एवं धरना प्रदर्शन जारी रहा। धरना प्रदर्शन एवं सम्पूर्ण कार्य बहिष्कार में जनपद के समस्त लेखपाल उपस्थित रहे। सभा का संचालन विजय कुमार शर्मा द्वारा किया गया।
सदर तहसील में धरने पर बैठे लेखपाल
लगातार चल रहे आन्दोलन के तेरहवें दिन सम्पूर्ण कार्य बहिष्कार एवं धरना प्रदर्शन में रामकृष्ण त्रिपाठी महामंत्री संयुक्त राज्य कर्मचारी परिषद शामिल रहे। कहा कि अगर सरकार लेखपाल संवर्ग का उत्पीडन बंद नही करती तथा इनकी मांगे नही मानती तो संयुक्त राज्य कर्मचारी परिषद संघ भी इनके समर्थन में आ जायेगा। इसके लिये सरकार जिम्मेदार होगी। शिवचन्द्र यादव जिलाध्यक्ष उत्तर प्रदेश लेखपाल संघ ने कहा कि अबकी बार आर पार, सरकार को हमारी मांगे माननी ही पडेगी। राकेश कुमार बुन्देला जिला मंत्री ने कहा कि दो हजार में दम नही, अट्ठाइस सौ से कम नही ।हम समस्त मांगो के साथ अट्ठाइस सौ का पे ग्रेड लेकर रहेंगे। रामकिशोर कुशवाहा तहसील अध्यक्ष बबेरू न कहा कि जब तक सरकार हमारी मांगे नही पूरी करेगी तब तक कार्य बहिष्कार जारी रहेगा। कार्य बहिष्कार एवं धरना प्रदर्शन में गौरव सिंह, गुलाब सिंह, छंगूराम, इन्द्रजीत कुशवाहा, लालमन यादव, दिनेश कुमार यादव, रामबरन यादव, बालकृष्ण शिवहरे, रविन्द्र कुमार, धीरेन्द्र सिंह, निशा देवी, संजना वर्मा, प्रियंका नायक, निधि गुप्ता, रजनी शिवहरे, प्रीती कुशवाहा, यशिता शुक्ला, पूजा गुप्ता, रत्ना चैहान, सृष्टि पाण्डेय, अर्चना त्रिपाठी, ब्रजमोहन यादव, नन्दकिशोर, शिवशंकर, उमादत्त मिश्रा, दयाराम यादव, सुभाष पटेल, छोटेलाल कुशवाहा, रामखेलावन, सुजीत कुमार, इन्द्रसेन मिश्र, संदीप कुमार, कमलेश बाबू, आदि ने अपने विचार व्यक्त किये। लेखपालों ने चेतावनी दी कि जब तक मांगे पूरी नही होती तब तक आन्दोलन जारी रहेगा।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Responsive Ads Here

Pages