Latest News

नागरिकता संशोधन बिल एक नजर में

देवेश प्रताप सिंह राठौर 
(वरिष्ठ  पत्रकार)

भारत में  नागरिकता संशोधन बिल लोकसभा एवं राज्यसभा में सर्वसम्मत से पास हो गया है,  इसमें आपने देखा लोकसभा एवं राज्यसभा में पेश होने वाले विल के सदन पर सभी सांसदों को उपस्थित होने को कहा गया था। नागरिकता संशोधन बिल का काफी दलों ने विरोध किया वहीं शिवसेना द्वारा कांग्रेस के साथ मिलकर महाराष्ट्र में सरकार बनाई है । उसके बावजूद लोकसभा में भाजपा का समर्थन किया परंतु राजसभा में शिवसेना ने वॉकआउट किया गया, शिवसेना इस समय वह बनी है भाजपा के लिए छछूंदर जिसे ना निकला जाए ना ही उगला जाए , विधेयक नागरिकता संशोधन बिल पास होने से देश में बहुत से राज्य ना लगने का विरोध कर रहे हैं ऐसा क्यों कर रहे हैं विधेयक पास हो गया तो उसके पास होने से पाकिस्तान ,बांग्लादेश, और  अफगानिस्तान में जो भारतीय मूल के हिंदू समाज के जैन ,पारसी सिख, बौद्ध जात के लोग भारतीय नागरिकता पाने में सरलता  प्राप्त कर सकेंगे क्योंकि इन तीनों देशों में पाकिस्तान बांग्लादेश अफगानिस्तान में इन जातियों की दुर्दशा है जिसमें पाकिस्तान इन जातियों पर जो करता रहता है वह जगजाहिर है। इस विधेयक में 11 वर्ष उस देश में रहना अनिवार्य है परंतु छूट प्रदान करते हुए इन 3 देशों की नागरिकता के लिए 6 वर्ष समय सीमा तय की है आज बिल पास ना होने की स्थिति में पूर्व में इन 3 देशों के आए नागरिक भगोड़ा चुपके से अपना भेष बदलकर रह रहे हैं उन्हें सरकार को पता चलने पर जेल में डालने का प्रावधान रहेगा जबकि पार्टियां भ्रमित कर रही है एवं विरोध कर रही हैं वह दलों का कहना है कि यह बिल मुसलमान विरोधी है जबकि ऐसा नहीं है भारत के पूर्वोत्तर राज्य असम, मणिपुर मिजोरम, नागालैंड, अरुणाचल प्रदेश में जमकर विरोध हो रहा है यह विरोध क्यों हो रहा है क्योंकि यह बिल ऐसा बिल है जिससे भारतीयता में लोग जो इन 3 देशों में जो भारत के सटे हुए देश हैं उनमें जो हिंदुओं अन्य जातियों के साथ जो दुर्व्यवहार हो रहा है जो आए दिन सामने आता है ऐसी बहुत सी चीजे है जो नहीं जानकारी प्राप्त हो पाती है इन सब  से लाभ मिलेगा जो लोग विरोध कर रहे हैं उन्हें यह नहीं मालूम कि विश्व में सिर्फ एक ही देश हिंदू वाहुल्या देश है जो भारत और विश्व में कोई देश हिंदू राष्ट्र मजबूत नहीं है और बड़ा नहीं है जबकि एक नेपाल हिंदू राष्ट्र माना जाता है मेरा कहना आपने सुना लोगों का सुना यह नागरिकता बिल देश को जोड़ने का काम करेगा देश को तोड़ने का काम नहीं करेगा इसमें पश्चिम बंगाल में जो घुसपैठिया वोट डाल कर फिर वापस चले जाते थे फिर वही रह कर अपनी स्थित को मजबूत करते रहते थे, उनको अपने देश वापस पहुंचाने का काम करेगा, क्योंकि यह घुसपैठिया देश के लिए घातक बनते जा रहे हैं। आज इस नागरिकता बिल


कि देश को अति आवश्यकता थी जो राज्य नहीं मान रहे हैं जो कह रहे हम इस बिल को नहीं लगाएंगे यह कानून बन गया है इसमें माननीय राष्ट्रपति जी ने अपनी मोहर लगा दी है अब यह बिल राज्य सरकार के कानून के दायरे में नहीं है इसको ना माने इसको हर हाल में देश में 97 कानून ऐसे हैं जिसको हर हाल में राज्य सरकारों को मानना होता है। जिसमें एक नागरिकता बिल भी शामिल हो गया है।भारत में नागरिकता संशोधन बिल (कैब) अब पूरे देश में लागू होगा अभी भारत में रहने वाले लोगों एनआरसी का नाम सुनकर घबरा रहे थे परंतुअसम राज्य के लिए राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्ट्रेशन मसौदा का पहला राज्य मैं किया गया था सभी दलों के विपक्ष विरोधियों के मन में एक बात आ रही है कि अगर वह यह बिल असम की तरह पूरे देश में लागू हो जाएगा तो क्या होगा एनआरसी मैं आपको भारतीयता दिखाने के लिए प्रमाण देना पड़ेगा कि आप एवं आपके पूर्वज कब से रह रहे हैं तथा जो मूल रूप से वहां जिस स्थान का सर्वे किया जा रहा है वह उस स्थान पर पूर्वजों से रहते हुए प्रमाण प्राप्त होंगे तो वह भारतीय की नागरिकता उन्हें प्राप्त होगी।आज भारतीय नागरिकता पर जिस तरह सवाल कुछ राज्यों में फैला है वह नासमझ एवं नेताओं विपक्षियों के दुष्प्रचार के कारण हो रहा है एक ऐसा माहौल तैयार कर रहे हैं जो मुसलमानों के खिलाफ यह बिल पास हुआ ऐसा वातावरण तैयार किया जा रहा है ।जबकि यह बिल कैब एक ऐसा बिल है जो भारत के पड़ोसी देशों में जो देश पूर्व से मुस्लिम राष्ट्र घोषित है तथा वहां उन देशों में रहने वाले अल्पसंख्यक जैसे जैन, हिंदू ,सिख, फारसी और बौद्ध रह रहे हैं जिन्हें अल्पसंख्यक के तौर पर वहां पर उनकी यातनाएं और उत्पीड़न किया जा रहा है, इस तरह के लोग इस बिल के माध्यम से अपना आवेदन करने में
 
सफलता प्राप्त होगी इस बिल के माध्यम से देशों में रह रहे परेशान लोगों को लाभ मिलेगा कुछ लोग यहां पर मुस्लिम वर्ग के लोग एवं धर्मगुरु एवं नेता कह रहे हैं, इसमें मुस्लिम ना होने का क्या कारण है हम आपको बताना चाहते हैं जिन तीनों देश जो पड़ोस में सटे हुए हैं और तीनों देश मुस्लिम राष्ट्र घोषित है। ओ क्यों भारत में आएंगे विश्व में इकलौता देश भारत ही हिंदू राष्ट्र तो नहीं है लेकिन हिंदू बहुल देश माना जाता है विनयपाल भी हिंदू राष्ट्र है लेकिन उसकी तुलना ना के बराबर है आज पाकिस्तान बांग्लादेश अफगानिस्तान में हिंदू सिख जैन पारसी और बहुत लोगों का जो हाल है वह पूरे विश्व में वाली बात सभी लोग जानते हैं रही बात मुसलमान की मुसलमान यहां पर आतंक के साथ एवं अपनी हर क्षेत्र में आजादी प्राप्त है इतनी आजादी मुस्लिम देशों में यहां के अल्पसंख्यकों को जितनी आजादी है उतनी मुस्लिम राष्ट्र में नहीं है जो मुस्लिम होकर के मुस्लिमों को नहीं है। आज यह राष्ट्रीय नागरिकता बिल जो दोनों सदनों में पास होकर राष्ट्रपति की मुहर लग गई है कानून बना दिया गया है इसे राज्यों को मानना अब कानून के मुताबिक कोई भी से राज्य रोकने का प्रयास नहीं कर सकता लोकसभा में कैब बिल पास होने की चर्चा चल रही थी उसी समय ओवैसी द्वारा हैदराबाद के सांसद ने जिस तरह अपने वक्तव्य देकर बेल के परखच्चे उड़ाए फाड़ दिया यह चीज हिंदुस्तान में ही यहां के अल्पसंख्यक कर सकते हैं जबकि पाकिस्तान में अफगानिस्तान में बांग्लादेश में अल्पसंख्यक सदन में इस तरह की हरकत करने की जरूरत नहीं करते और ना ही वाक्य संख्या यह हिमायत कर सकते हैं। भारत जैसी आजादी विश्व में किसी देश में अल्सर क्यों को नहीं प्राप्त है पाकिस्तान बांग्लादेश अफगानिस्तान में क्या कोई ओवैसी एवं अन्य धर्मगुरु जो कर रहे हैं वह पाकिस्तान बांग्लादेश अफगानिस्तान में हिंदू अल्पसंख्यक बोल भी नहीं पाते हैं हिंदू परिवारों की इस्मत होती जा रही है धर्म परिवर्तन किया जा रहा है इतना खराब हालात है और अल्पसंख्यकों को हितैषी जो अपनी राजीव उनके सारे चला रहे हैं भारत में आज की तारीख में 22 करोड़ मुसलमान हिंदुस्तान में है और पाकिस्तान में बीसी करोड़ है मेरा कहना है कि जो लोग अल्पसंख्यक के नाम से भारत में मुस्लिम लोगों को रूप दे रखा है आज की डेट में अल्पसंख्यक नहीं है वह आप किसी जिले में जाइए किसी शहर में जाइए किसी राज्य में जाइए इनकी संख्याएं बहुत है।मैं किसी धर्म जात की बात नहीं कर रहा हूं मैं सिर्फ न्याय की बात कर रहा हूं क्योंकि हिंदुओं के साथ पाकिस्तान की सरकार पाकिस्तान के रहने वाले बहुत ही गलत सवार करते हैं उनकी बहनों को बेटियों को माताओं को इज्जत लूटते हैं और उनका धर्म परिवर्तन करते हैं ऐसे लोग दरिंदे कभी भी आपने हित में नहीं कार्य कर सकते है। मेक इन इंडिया चुनाव पार्टी के दौरान झारखंड में जिस तरह से कांग्रेस पैतृक पार्टी के एक मुखिया ने जिनका नाम है राहुल गांधी राहुल गांधी ने मेक इंडिया को रेप इंडिया कहकर बहुत बड़ा पूरे देश में महिलाओं के लिए अपमान किया है पता नहीं वैसे ऐसे वक्तव्य दे जाते हैं जो भारत के लिए हर लोगों के लिए एक शर्मिंदगी पैदा करती है भारत में जब कांग्रेस की सरकारें हुआ करती थी तब भी बलात्कार होते थे तब भी दंगे फसाद हत्याएं लूट सभी हुआ करते थे लेकिन इस तरह के वक्त आप आज तक किसी ने नहीं दिया विपक्ष की कोई भी पार्टी हो इस तरह का कभी भी उन्होंने बात नहीं कही जिससे देश का सर शर्मिंदगी से नीचा झुके, कांग्रेसी जुमले की पार्टी बन गई है कोई भी किसी ने मैं दल हो या पक्ष या विपक्षकिसी मुहावरे को किसी सौगंध को तोड़ मरोड़ कर उसे पेश करना भारत की राजनीति में हमेशा हमेशा रहा है वही कांग्रेश जो भाजपा सरकार अपने प्रचार में कई 1 चीजें मेक इन इंडिया बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ के ऊपर इन्होंने तर्क कुतर्क इस तरह दिया अपने सौगंन में बनाकर जो वास्तव में कष्ट दाई होता है। लोकसभा में दल की या विपक्ष की कोई भी महिलाएं हैं उन्होंने राहुल गांधी के रेप इन इंडिया का जमकर विरोध किया है तथा चुनाव आयोग से इस मसले पर शिकायत की है और उम्मीद जताई है इस पर सख्त निर्णय लेने का कार्य करेगी। क्योंकि कांग्रेस का माहौल में देख रहा हूं इस समय सत्ता ना होने के कारण बौखला गए हैं एक है मनीष तिवारी जी कांग्रेस के नेता दूसरे सुरजेवाला तीसरे दिग्विजय सिंह चौथे कपिल सिब्बल और भी बहुत है जिनका काम ही है उल्टा बोलना जिन्हें जितना पढ़ा कर भेजा जाता है उतना ही उल्टा बोलते हैं और जितना उल्टा बोलेंगे लो उतना ही पार्टी गर्त में जा रही है वह दिन दूर नहीं जब यह 8 एवं10 सीटों पर पर आ जाएंगे। क्योंकि पूरा भारत आज चाहता है भ्रष्टाचारी और देश मजबूत हो वह महंगाई की मार से इतना परेशान नहीं है जितना भ्रष्टाचारी अत्याचारी और पुरानी कुरीतियों से परेशान है जिसे मोदी सरकार दूर कर रही है और उम्मीद है निष्पक्षता के तौर पर मैं यह स्पष्ट कह सकता हूं कि देश मजबूत हो रहा है अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मजबूत हो रहा है। लोग प्याज की महंगाई की बात करते हैं प्याज नहीं खाओगे तो भी जीवन चल जाएगा प्याज इतना महत्व नहीं रखता है जितना अन्य चीजें हैं खाने में जिनके सहारे जीवन चलता है वह एक मात्र रखने की चीज होती है लोग प्याज प्याज चिल्ला रहे हैं कांग्रेस की सरकारें थी उस समय टमाटर प्याज के रेट भी बड़े थे आज प्याज के बारे में कोहराम मचा हुआ है जबकि प्याज के बगैर भी खाना तैयार हो सकता है बहुत से हिंदुस्तान में लोग हैं जो लहसुन प्याज नहीं खाते तो क्या उनका जीवन नहीं चल रहा है और भूखे मर रहे हैं। सरकार मजबूत है देश के पड़ोसी देश पाकिस्तान जैसा मक्कार बेईमान गद्दार आज परमाणु बम की धमकी देता है लेकिन भारत सरकार उसके परमाणु बम को दरकिनार करके अपना कार्य कर रही है।तुम्हारे पास परमाणु बम ढाई सौ ग्राम का है हमारे पास परमाणु बम तुमसे कई गुना वजन का ज्यादा है।नहीं पहले गीदड़ धमकी देकर अपनी हर बात मनवा लेता था अब उसकी गीदड़ धमकी नरेंद्र मोदी जी के सामने नहीं चल पा रही है भारत मजबूत हो रहा है यह पक्का सच है देश के सच्चे नागरिक होने के नाते सत्य लिखना सत्य को जनता के सामने लाने हर राष्ट्रीयता का सच्चे सपूत का फर्ज बनता है।

No comments