अविश्वास प्रस्ताव: ब्लाक प्रमुख को दो और विपक्ष को मिले 62 वोट - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Advt.

Advt.

Post Top Ad

Responsive Ads Here

Wednesday, December 18, 2019

अविश्वास प्रस्ताव: ब्लाक प्रमुख को दो और विपक्ष को मिले 62 वोट

कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच अविश्वास प्रस्ताव के लिए हुआ मतदान 

बबेरू, कृपाशंकर दुबे । विपक्षियों के चक्रव्यूह में अबकी बार सपा समर्थित ब्लाक प्रमुख सुमन देवी कोटार्य फंस गईं। उन्हें कुर्सी से बेदखल होना पड़ा। कुल 65 क्षेत्र पंचायत सदस्यों ने अविश्वास पर मतदान किया। इसमें कुल दो मत ब्लाक प्रमुख सुमन को मिले। जबकि एक मत अवैध रहा। कुल 62 मत विपक्षियों को प्राप्त हुए। इस तरह से सपा समर्थित ब्लाक प्रमुख सुमन देवी को आखिरकार कुर्सी से बेदखल होना पड़ा। मतदान के दौरान गहमागहमी का माहौल रहा। सपा समर्थित ब्लाक प्रमुख सुमन देवी कोटार्य के विरूद्व पहली बार अविश्वास प्रस्ताव की बैठक हुई। जिसमें दो तिहाई बहुमत से अधिक मत न होने पर पिछले वर्ष पद मुक्त होने से बच गई। न्यायालय की शरण लिया और किसी तरह से बचने में कामयाब हो गई। दोबारा अविश्वास प्रस्ताव की बैठक तय हुई और सभी क्षेत्र पंचायत सदस्य लामबन्द होकर ब्लाक सभागार में पहुंच गए। लेकिन लोकसभा चुनाव की
मतदान के बाद बाहर खड़े क्षेत्र पंचायत सदस्य
अधिसूचना लागू होने के कारण डीएम ने अविश्वास प्रस्ताव की बैठक स्थगित करने का नोटिस जारी कर दिया और सभागार में नोटिस चस्पा होने से ब्लाक प्रमुख के विरोधियों को निराशा हाथ लगी थी। तीसरी बार 18 दिसम्बर को अविश्वास प्रस्ताव की बैठक फिर से तय हुई और सभी क्षेत्र पंचायत सदस्यों को बैठक की सूचना इस बार लिखित में दी गई। बसपा एवं भाजपाइयों ने मिलकर ब्लाक प्रमुख के विरूद्व अविश्वास प्रस्ताव में चढबढ कर भागीदारी की। एसडीएम महेन्द्र प्रताप सिंह व खण्ड विकास अधिकारी की मौजूदगी मे अविश्वास प्रस्ताव की बैठक हुई। 106 क्षेत्र पंचायत सदस्यों में 65 क्षेत्र पंचायत सदस्य अविश्वास प्रस्ताव की बैठक में हिस्सा लिया। जिसमें दो क्षेत्र पंचायत सदस्यों ने ब्लाक प्रमुख के पक्ष में मतदान किया और 1 मत अवैध घोषित किया गया। विपक्ष में 62 मत पड़े। इस बार ब्लाक प्रमुख को मात खानी पडी। सपा ब्लाक प्रमुख पद मुक्त हो गई। परिणाम की जानकारी होने पर ब्लाक प्रमुख के विरोधी सदस्यों में खुशी की लहर छा गयी। एक दूसरे का मुंह मीठा करा कर जश्न मनाया। खण्ड विकास अधिकारी डा. प्रभात कुमार द्विवेदी ने बताया कि अब संचालन समिति का गठन डीएम के निर्देश पर होगा। सुरक्षा के मद्देनजर अतर्रा पुलिस क्षेत्राधिकारी राजीव प्रताप सिंह, कोतवाली प्रभारी रामाश्रय यादव, कमासिन थानाध्यक्ष अशोक कुमार, बिसंडा थानाध्यक्ष तारा सिंह पटेल, तिंदवारी थानाध्यक्ष नीरज सिंह समेत भारी पुलिस बल तैनात रहा। 

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Responsive Ads Here

Pages